Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > लखनऊ > #UnnaoKiBeti : अखिलेश का बड़ा हमला, बोलते थे ठोंक देंगे लेकिन बेटी को जला दिया!

#UnnaoKiBeti : अखिलेश का बड़ा हमला, बोलते थे ठोंक देंगे लेकिन बेटी को जला दिया!

 Special Coverage News |  7 Dec 2019 6:43 AM GMT  |  लखनऊ

#UnnaoKiBeti : अखिलेश का बड़ा हमला, बोलते थे ठोंक देंगे लेकिन बेटी को जला दिया!
x

#UnnaoKiBetiके लिए न्याय के लिए धरने पर बैठे पूर्व सीएम अखिलेश यादव का सीएम योगी आदित्यनाथ पर हमला करते हुए कहा, बोलते थे अपराधियों को ठोक देंगे, लेकिन बेटी को नहीं बचा पाए क्या ठोकने से कुछ नहीं हुआ.

उन्नाव में रेप पीड़िता की मौत के बाद विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे समाजवादी पार्टी (एसपी) प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि पीड़िता की मौत की जिम्मेदार योगी सरकार है। अखिलेश ने कहा कि बीजेपी के राज में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ा है। उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के लिए कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किए हैं। बता दें कि उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद यूपी में राजनीति तेज हो गई है। एक ओर अखिलेश यादव विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे हैं। दूसरी ओर लखनऊ दौरे पर आईं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी उन्नाव रवाना हो गई हैं। प्रियंका उन्नाव में पीड़िता के परिजनों से मुलाकात करेंगी।

जिन पर आरोप हैं वे बीजेपी से जुड़े लोग

अखिलेश ने उन्नाव रेप केस में सीएम योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए कहा, 'इसी विधानसभा में मुख्यमंत्री ने कहा था कि अपराधियों को ठोक दिया जाएगा। यह भाषा थी लेकिन एक बेटी की जान नहीं बचा सके।'अखिलेश ने आगे कहा, 'जब तक उत्तर प्रदेश के सीएम, गृह सचिव और डीजीपी इस्तीफा नहीं देंगे, न्याय नहीं होगा। उन्नाव रेप केस को लेकर कल सभी जिलों में पार्टी की ओर से शोकसभा आयोजित की जाएगी।' अखिलेश ने कहा, 'जिन पर आरोप हैं वे बीजेपी से जुड़े लोग हैं इसलिए न्याय नहीं मिला। आज के युग में इस तरह की घटनाएं होंगी क्या, किसी को जिंदा जला दिया जाएगा।'

"यह एक काला दिन है। वह मरना नहीं चाहती थी लेकिन वह जिंदा नहीं बच पाई। इस तरह की घटना इस बीजेपी सरकार में पहली बार नहीं हुई है। इससे पहले भी उन्नाव की बेटी ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर आत्मदाह करने की कोशिश की थी, तब जाकर उसकी एफआईआर दर्ज हुई।"

अखिलेश यादव ने बीजेपी सरकार पर हमला करते हुए कहा, 'उन्नाव की घटना बहुत दुखद है इस घटना की जितनी भी निंदा की जाए कम है। यह एक काला दिन है। वह मरना नहीं चाहती थी, लेकिन वह जिंदा नहीं बच पाई। इस तरह की घटना इस बीजेपी सरकार में पहली बार नहीं हुई है। इससे पहले भी उन्नाव की बेटी ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर आत्मदाह करने की कोशिश की थी, तब जाकर उसकी एफआईआर दर्ज हुई। बाराबंकी की बेटी ने भी इसी मुख्यमंत्री आवास के बाहर आग लगाई थी। वह बच नहीं पाई। एक ने पूरा परिवार खो दिया, जिस बेटी की जान आज गई उसकी दोषी बीजेपी सरकार है।'

कल रात हुई पीड़िता की मौत

एसपी अध्यक्ष अखिलेश यादव के साथ बाकी नेता भी विधानसभा के गेट नंबर 2 के बाहर धरना दे रहे हैं। बता दें कि उन्नाव में जिंदा जलाई गई रेप पीड़िता की शुक्रवार रात दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में कार्डिऐक अरेस्ट से मौत हो गई। उधर, बीएसपी प्रमुख मायावती ने भी पीड़िता की मौत पर दुख जाहिर करते हुए तुरंत न्याय की मांग की है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it