Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > लखनऊ > यूपी पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान रचा इतिहास

यूपी पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान रचा इतिहास

बीमार बुजर्ग नौजवान सबको दवा उस तरह दे रहे है लाकर जिस तरह उनका कोई निजी परिजन देता है.

 Shiv Kumar Mishra |  7 April 2020 1:42 AM GMT  |  लखनऊ

यूपी पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान रचा इतिहास
x

उत्तर प्रदेश पुलिस ने लॉकडाउन के दौरान एक बाद काम किया है. जिस तरह से कोरोना नामक महामारी से लड़ने की लिए पुलिस सामने आई है वो वाकई काबिलेतारीफ काम है. जब पूरा विश्व इस महामारी से घबरा कर भाग रहा है तब यूपी पुलिस का एक एक जांबाज जवान चौबीस घंटे अनवरत आपकी सेवा में हर समय हाजिर है.

बात चंदौली से लेकर सहारनपुर तक हो या पीलीभीत से लेकर झांसी तक हो या फिर देवरिया से लेकर आगरा तक हो पूरा प्रदेश यूपी पुलिस के रहमोकरम पर है. बीमार बुजर्ग नौजवान सबको दवा उस तरह दे रहे है लाकर जिस तरह उनका कोई निजी परिजन देता है.

आम बात पर हम सब एक बात कहते है कि पुलिस चौराहों पर पैसे की खातिर खड़ी होती है. कभी आपने सोचा है कि जब भीषण ठंड में आप रजाई में घुसकर भी ठिठुर रहे होते है तब ये उस समय भी खड़े होते है. दूसरी बात जब आज महामारी में चौराहों से भीड़ गायब है तो क्यों खड़े है? अब यह उनके लिए जबाब है जो ये शब्द इस्तेमाल करते है. वो उस समय भी अपनी ड्यूटी निभाते है और आज भी.

जगह जगह यूपी पुलिस पर फूलों की वर्षा हो रही है. जगह जगह यूपी पुलिस जिन्दावाद के नारे लग रहे है. सबसे बड़ी बात यह है कि आज पुलिस के हाथ में सब कानून है तब पुलिस आपसे बाद शालीनता का व्यबहार कर रही है ये सबसे बड़ी बात है. आज वो आपकी गाडी का चालान और आपको जेल भी भेज सकते है लेकिन आपकी जरा परेशानी को समझ कर आपको जाने देते है जबकि वो भी जानते है कि जो बातें उन्हें समझा रहे है वो सब ठीक नहीं है. ये है यूपी की पुलिस.

तो अंत में यूपी पुलिस को बधाई देते हुए यूपी पुलिस जिन्दावाद का नारा लगायें.



Tags:    
Next Story
Share it