Top
Begin typing your search...

25 साल बाद एक मंच पर मायावती और मुलायम, मुलायम ही पिछड़ों के असली नेता, मोदी फर्जी OBC : मायावती

1995 के बाद पहली बार मायावती मैनपुरी में मुलायम सिंह यादव के लिए वोट मांगेंगी ?

25 साल बाद एक मंच पर मायावती और मुलायम, मुलायम ही पिछड़ों के असली नेता, मोदी फर्जी OBC : मायावती
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मैनपुरी : मैनपुरी में सपा प्रत्याशी मुलायम सिंह यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती की रैली थोड़ी देर में होने वाली है. मंच सज चुका है और लोग इकट्ठा होना शुरू हो गए है. मंच को नीले और लाल रंग में सजाया गया है और मंच के किनारे मायावती, मुलायम, अखिलेश और अजित सिंह की तस्वीर लगी हुई है. हालांकि, इस रैली में अजित सिंह नहीं आएंगे.

25 साल बाद एक मंच पर बसपा सुप्रीमो मायावती, सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव पहुंच गए हैं. दोनों के साथ सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी मौजूद हैं. रैली में सबसे पहले मायावती पहुंचीं. इसके थोड़ी देर बाद मुलायम बेटे अखिलेश के साथ पहुंचे. मंच पर आने से पहले तीनों नेताओं के बीच 10 मिनट तक बातचीत हुई. इसके बाद तीनों नेता मंच पर पहुंचे और लोगों का अभिवादन किया.

मुलायम मैनपुरी के सच्चे सेवक हैं: मायावती

मायावती ने नरेंद्र मोदी को नकली प‍छड़े वर्ग का बताकर अगड़े-प‍िछड़े की लड़ाई को हवा दे दी है. अब ऐसा लगता है क‍ि मायावती के इस हमले के बाद मोदी पलटवार करने से नहीं चूकेंगे. मायावती ने कहा क‍ि मोदी नकली जब‍कि मुलायम असली सेवक हैं.

मायावती ने कहा कि उम्र को तकाजे को ध्यान में रखकर मुलायमजी ने फैसला लिया है कि जब तक आखिरी सांस है वह मैनपुरी की सेवा करते रहेंगे. यह मैनपुरी के सच्चे सेवक हैं, नरेंद्र मोदी की तरह नकली सेवक नहीं है. आप लोग मुलायम सिंह को जिताकर संसद भेजिए. मायावती ने अपने भाषण के अंत में कहा- जय भीम, जय लोहिया, जय भारत

मायावती बोलीं- कांग्रेस के बहकावे में आने की जरूरत नहीं है

कांग्रेस पर हमला बोलते हुए मायावती ने कहा कि कांग्रेस ने अपने वादे कभी नहीं पूरे किए. कांग्रेस अब देश में घूम-घूमकर गरीबों को वोट हासिल करने में जुट गई है. आप लोगों को बहकावे में आकर वोट देने की जरूरत नहीं है. कांग्रेस कह रही है कि सरकार में आने पर थोड़ी सी आर्थिक मदद दी जाएगी. यह ढकोसला है. अगर हम सत्ता में आए तो आपको पूरी आर्थिक मदद करने के साथ ही आपको रोजगार देंगे.

मायावतीजी का एहसान है कि वह यहां आईं: मुलायम

मुलायम सिंह ने कहा कि आज आपके बीच मायावती जी आई हैं. मैं इनका बहुत सम्मान करता हूं. आज मायावतीजी का एहसान है कि वह हमारे बीच आई हैं. हम उनका स्वागत करते हैं और अपने कार्यकर्ताओं से हमेशा उनका सम्मान करने की अपील करता हूं. मायावतीजी ने हमारी कई बार मदद की है. मुझे जिताने के साथ ही गठबंधन के सभी प्रत्याशियों को जितवाएं.

रैली को संबोधित करते हुए मुलायम सिंह यादव ने कहा कि बहुत दिनों के बाद हम और मायावतीजी एक मंच पर हैं. यह बहुत खुशी की बात है. हमें एक मंच पर रहना होगा. मैनपुरी से हम बहुत बार चुनकर संसद गए हैं. यह हमारा घर है. अब आखिरी बार आपके कहने से मैं फिर लड़ रहा हूं. मैं ज्यादा आज भाषण नहीं दूंगा. इस बार मुझे पहले से ज्यादा वोट देकर जिताना.



Special Coverage News
Next Story
Share it