Home > नजर वाले को हिन्दू और मुसलमान दिखता हैं, मैं अन्धा हूँ साहब, मुझे तो हर शख्स इंसान में अल्लाह और भगवान दिखता है - अब्बास अंसारी

नजर वाले को हिन्दू और मुसलमान दिखता हैं, मैं अन्धा हूँ साहब, मुझे तो हर शख्स इंसान में अल्लाह और भगवान दिखता है - अब्बास अंसारी

भगवान राम के बताये रास्ते पर हम सबको चलना चाहिए

 शिव कुमार मिश्र |  2018-04-05 06:49:52.0  |  मऊ

नजर वाले को हिन्दू और मुसलमान दिखता हैं, मैं अन्धा हूँ साहब, मुझे तो हर शख्स इंसान में अल्लाह और भगवान दिखता है - अब्बास अंसारी

नजर वाले को हिन्दू और मुसलमान दिखता हैं, मैं अन्धा हूँ साहब, मुझे तो हर शख्स इंसान में अल्लाह और भगवान दिखता हैं. यह बात युवा नेता अब्बास अंसारी ने हनुमत एककुंडीय महायज्ञ और रामकथा में उपस्थित होकर कही. अब्बास ने रामकथा को सुना और सफल आयोजन के लिए हर संभव मदद का आश्वाशन भी दिया.




अब्बास अंसारी ने कहा कि में आयोजन समिति और सभी व्यापारी बंधुओं एवं धर्मप्रेमियों को सफल आयोजन के लिये बार बार धन्यवाद और शुभकामनाएं देता हूँ. आप सबने इस इस कार्यक्रम में मुख्यअतिथि के रूप में मुझे बुलाकर गंगा जमुनी तहजीब और भारतीय संस्कृति को जीवित रखने का जो कार्य किया वह अकथनीय है. भगवान राम का जीवन त्याग और तपस्या व निस्वार्थ से परिपूर्ण था, हम सबको अपने जीवन में समाज के लिये त्याग और निस्वार्थ भावना होनी चाहिये. उनके जीवन से हमें जो सीख मिली है उसी रास्ते पर चलकर आपसे प्रेम और भाईचारे को बढ़ाना चाहिए.




अब्बास ने कहा कि व्यास मंच से साध्वी कीलकारी जी का उदबोधन काफी ओजस्वी था व आनंदमयी है.संचालक और अध्यक्ष महोदय व प्रबंध समिति ने मेरा माल्यार्पण और अंगवस्त्रम पहनाकर मेरा जो सम्मान किया उसके लिये हम आपके सदैव आभारी रहेंगें.




उक्त अवसर पर अब्बास अंसारी के प्रतिनिधि बृजेश जायसवाल, सीताराम यादव, इजहार अली, बृजेश जायसवाल समाजसेवी, अनूप जायसवाल, गुड्डू मल्ल,राकेश मल्ल आदि उपस्थित रहे.

Tags:    
Share it
Top