Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > मऊ > भारत का संविधान जलाने वालों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हो-बृजेश जायसवाल

भारत का संविधान जलाने वालों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हो-बृजेश जायसवाल

एक मंत्री संविधान की शपथ लेकर सरकार में शामिल हुआ और वह भी संविधान को बदलने की बात कहता है

 Special Coverage News |  13 Aug 2018 11:21 AM GMT  |  मऊ

भारत का संविधान जलाने वालों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हो-बृजेश जायसवाल
x

संविधान की प्रति जलाने केे सवाल पर दूरभाष पर अपनी प्रतिक्रिया देते बसपा के युवा नेता और समाजसेवी बृजेश जायसवाल ने कहा कि भारतीय संविधान को जलाने वाले कौन लोग हैं और संविधान को क्यों जला रहे हैं ! 9 अगस्त को दिल्ली में भारतीय संविधान की प्रतियों को जलाया गया है जो कि लोकतंत्र में बहुत बड़ी शर्मनाक एवं घोर निन्दनीय घटना है साथ ही यह दंडनीय अपराध भी है इसके दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा हो।

अब यह जानना भी जरूरी है कि संविधान को जलाने वाले यह लोग कौन हैं और संविधान को क्यों जला रहे हैं ?किसी भी देश का नागरिक क्यों न हो वह अपने राष्ट्र के संविधान का सम्मान करता है,राष्ट्रीय ध्वज को सलाम करता है और राष्ट्रीय गान को सावधान खड़े होकर गाता है लेकिन भारत की राजधानी दिल्ली में खुले आम भारत के संविधान को जलाकर संविधान का केवल अपमान ही नहीं किया है बल्कि बहुत बड़ा अपराध भी किया है और ऐसा अपराध देश का नागरिक तो कभी नहीं कर सकता है ! संविधान को बचाने की पूरी जिम्मेदारी सर्वोच्च न्यायालय के साथ साथ केंद्र सरकार की होती है लेकिन सरकार के मंत्री ही खुलेआम मंचों पर घोषणा करते हैं कि हम लोग सरकार में कोई ऐशो आराम करने नहीं आये हैं बल्कि हम तो डॉ0 भीमराव अंबेडकर के लिखे हुए संविधान को बदलने के लिए ही सरकार में आये हैं।



एक मंत्री संविधान की शपथ लेकर सरकार में शामिल हुआ और वह भी संविधान को बदलने की बात कहता है और पूरी सरकार उसका बचाव करती है तो फिर संविधान को ऐसी सरकार की निगरानी में कैसे छोड़ा जा सकता है इसलिए संविधान को बचाने के लिए बहुजन की सरकार बनाया जाना बहुत जरूरी है। कुछ राज्यों में इसी वर्ष के अंत में विधानसभा के चुनाव होने हैं और इसके अलावा अगले वर्ष 2019 में लोकसभा के आमचुनाव होंगे इन चुनावों में संविधान को बदलने की बात करने वाली सरकार को हटाकर बहुजन समाज की सरकार बनाया जाना बहुत जरूरी है यदि ऐसा नहीं करेंगे तो न तो संविधान बचेगा और न आरक्षण बचेगा और न भारत धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र रहेगा।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it