Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > मेरठ > मेरठ जोन में एनकाउंटर का अर्द्धशतक पूरा, 52 से अधिक मारे गये और 950 घायल

मेरठ जोन में एनकाउंटर का अर्द्धशतक पूरा, 52 से अधिक मारे गये और 950 घायल

 Special Coverage News |  20 July 2019 4:13 AM GMT  |  मेरठ

मेरठ जोन में एनकाउंटर का अर्द्धशतक पूरा, 52 से अधिक मारे गये और 950 घायल

सरताज खान की रिपोर्ट

मेरठ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के सत्ता में आने के बाद से एडीजी प्रशांत कुमार के मेरठ जोन में अपराध और अपराधियों का खात्मा करने के लिए पुलिस ताबड़तोड़ एनकाउंटरों को अंजाम दे रही है। बता दें कि मंगलवार को जोन पुलिस ने एनकाउंटर की हाफ सेंचुरी मार चुकी है। मुठभेड़ में बदमाशों के पैरों में गोली लगने का आंकड़ा भी एक हजार के करीब पहुंच गया है। वहीं प्रदेश के अन्य सात जोन लखनऊ, बरेली, आगरा, कानपुर, प्रयागराज, वाराणसी और गोरखपुर एनकाउंटरों के मामले में काफी पीछे हैं। यहीं वजह है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मेरठ जोन पुलिस की पीठ थपथपा चुके हैं।

जानिए पूरा मामला

बता दें कि उत्तर प्रदेश में 2017 में भाजपा की सरकार बनी थी। सरकार बनने के बाद जहां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महिला अपराध पर लगाम लगाने के लिए कड़े निर्देश दिए तो वहीं कैराना पलायन को लेकर सरकार ने ठोस कदम उठाए। इसके बाद अपराधियों की ईंट से ईंट बजाने के काम को अंजाम देना शुरू हुआ। नतीजतन प्रदेश के मेरठ जोन के मुजफ्फरनगर, शामली, मेरठ, सहारनपुर, बागपत, हापुड़, बुलंदशहर, नोएडा और गाजियाबाद में पुलिस से बदमाशों की सीधी मुठभेड़ होने लगीं।

कई बदमाश पुलिस मुठभेड़ में मारे गए। मेरठ जोन में यह सिलसिला लगातार जारी है। कल गुरुवार को भी जोन की गाजियाबाद व नोएडा पुलिस ने एक मुठभेड़ को अंजाम देकर एक लाख के इनामी बदमाश को ढेर कर दिया।बता दें कि अब तक मुठभेड़ में मरने वाले बदमाशों की संख्या 52 के पार पहुंच गई है। वहीं पैर में गोली लगने वाले बदमाशों की संख्या 950 के पार हो चुकी है।

अब तक मेरठ जोन में मुठभेड़ में मारे गए अपराधी

26 सितंबर 2017 को रुड़की रोड पर गांधी बाग के पास सदर बाजार पुलिस ने 50 हजार के इनामी मंसूर उर्फ मच्छू पहलवान निवासी बेहट सहारनपुर को मार गिराया था। 28 सितंबर 2017 एसटीएफ और सरूरपुर पुलिस ने मुकीम काला के भाई वसीम काला को मारा जिस पर 50 हजार का इनाम था। 30 दिसंबर 2017 शताब्दीनगर परतापुर में 50 हजार का इनामी हसीन मोटा मारा गया। 29 मई 2018 दुल्हन की हत्या करने पर 50-50 हजार के इनामी हिमांशु उर्फ नरसी और धीरज की मुठभेड़ में मौत हुई थी।

4 मार्च 2018 सरूरपुर में चश्मदीद गवाह सवित्री की हत्या में 50 हजार का इनामी सुजीत जाट पुलिस मुठभेड़ में मारा गया। 27 नवंबर 2018 सरधना में 50 हजार का इनामी इरशाद निवासी नंगला रियावली रतनपुरी मुजफ्फरनगर एनकाउंटर में ढेर हुआ। 5 मई 2019 दौराला में एक लाख के इनामी जुबैर निवासी लिसाड़ीगेट को पुलिस ने मार गिराया। 11 जुलाई 2019 पल्लवपुरम में एक लाख के इनामी शकील और 25 हजार के इनामी भूरा की मुठभेड़ में मौत। 16 जुलाई 2019 दौराला में पुलिस ने एक लाख का इनामी रविंद्र उर्फ कालिया और 50 हजार का इनामी अमित उर्फ शेरू मुठभेड़ में ढेर कर दिया।18 जुलाई को साहिबाबाद पुलिस व नोएडा एसटीएफ की संयुक्त टीम से हुई मुठभेड़ में 1 लाख का इनामी बदमाश मेहरबान ढेर हो गया।

अपराधियों की गोली का जवाब गोली से दे रही है पुलिस : एडीजी

वहीं एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार का कहना है कि मेरठ जोन के जिलों में अपराधियों के खिलाफ अभियान चल रहा है। बदमाश पुलिस टीम पर गोली चला रहे हैं, जिसका जवाब पुलिस भी गोली से ही दे रही है। एडीजी ने बताया कि मेरठ जोन के जिलों में अब तक 52 से अधिक बदमाशो की पुलिस मुठभेड़ में मौत हो चुकी है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it