Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > मुरादाबाद > यूपी के मुरादाबाद में कर्ज में डूबे किसान ने गोली मारकर की आत्महत्या, सुसाइड नोट भी लिखा

यूपी के मुरादाबाद में कर्ज में डूबे किसान ने गोली मारकर की आत्महत्या, सुसाइड नोट भी लिखा

बेटे की अचानक मौत से माँ का रो रोकर बुरा हाल था.

 Shiv Kumar Mishra |  28 Sep 2020 4:05 AM GMT  |  मुरादाबाद

यूपी के मुरादाबाद में कर्ज में डूबे किसान ने गोली मारकर की आत्महत्या, सुसाइड नोट भी लिखा
x

मुरादाबाद :बिलारी थाना क्षेत्र के गांव अला रामपुर मैं उस समय हड़कंप मच गया जब कर्ज में डूबे किसान ने खुद को 315 बोर के अवैध तमंचे से गोली मार ली. जिससे किसान की मौके पर ही मौत हो गई, मृतक किसान ने गोली मारने से पहले एक सुसाइड नोट भी लिखा था, जो मौके पर पहुंची पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया है और शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

मिली जानकारी के मुताबिक बिलारी के अला रामपुर गांव में उस समय हड़कंप मच गया जब किरण पाल किसान ने खुद को 315 बोर के अवैध तमंचे से गोली मार ली है. जिसकी सूचना स्थानीय लोगों ने पुलिस को दी जानकारी मिलते ही पुलिस और फॉरेंसिक टीम भी मौके पर पहुंच गई और घटना के बारे में जानकारी करने लगी है. परिजनों द्वारा बताया गया किसान का कुछ समय पहले एक्सीडेंट हो गया था जिसके इलाज के लिए में कर्जा लिया था कल जा ना चुकाने के चलते आमदनी का कोई जरिया नहीं था. जिसके चलते परेशान होकर आज किरण पाल किसान ने खुद को गोली मार ली.


किरण पाल और किरण पाल की माँ घर पर रहते थे. किरण पाल ने खुद को गोली मारने से पहले सुसाइड नोट भी लिखा था जो पुलिस ने मौके पर आकर अपने कब्जे में ले लिया और जिस तमंचे से खुद को गोली मारी थी वह तमंचा भी कब्जे में ले लिया साथ ही साथ फॉरेंसिक टीम ने मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का जायजा लिया, और शव का पंचनामा भर पोस्टमार्टम को भेज दिया. मृतक किसान किरणपाल के परिवार में सब का रो रो कर बुरा हाल है.


भले ही प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार किसानों के लिए काफी सारी योजनाएं चलाती हैं जिससे किसानों को लाभ मिल पाया लेकिन जिस तरीके से मुरादाबाद में एक किसान ने कर्जे में आकर खुद को गोली मार ली है इससे तो साफ जाहिर यह होता है कि सरकार के दावे सिर्फ हवा हवा ही साबित हो रहे हैं क्योंकि किसान बेहद परेशान हैं जिसके चलते आज के कदम किसान करण पाल द्वारा उठाया गया है, अब सरकार को इस और कड़े कदम उठाने चाहिए और किसानों के साथ कंधे से कंधा मिला कर खड़ा होना चाहिये.

सरफराज सैफी ब्यूरो

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it