Breaking News
Home > मुरादाबाद पुलिस की बड़ी कामयाबी, बेंक अधिकारी की सूझबूझ के बाद पकड़ा गया फर्जी पीएमओ अधिकारी

मुरादाबाद पुलिस की बड़ी कामयाबी, बेंक अधिकारी की सूझबूझ के बाद पकड़ा गया फर्जी पीएमओ अधिकारी

मुरादाबाद में प्रथमा बेंक में पहुंचा फर्जी पीएमओ अधिकारी बनकर एक आदमी, पुलिस ने भेजा जेल.

 शिव कुमार मिश्र |  2018-03-23 05:39:54.0  |  मुरादाबाद

मुरादाबाद पुलिस की बड़ी कामयाबी, बेंक अधिकारी की सूझबूझ के बाद पकड़ा गया फर्जी पीएमओ अधिकारी

मुरादाबाद के सिविल लाइन थाना क्षेत्र स्थित प्रथमा बैंक मुख्यालय में आज शाम उस समय हडकंप मच गया। जब एक व्यक्ति खुद को प्रधानमंत्री कार्यालय से आया हुआ बताकर बैंक में गोपनीय व् संवेदनशील दस्तावेजों को देखने की डिमांड करने लगा। शुरुआत में बैंक अधिकारी और कर्मचारी सहम गए। लेकिन जब उससे परिचय पत्र और जानकारी मांगी गयी तो बैंक अधिकारीयों को शक हुआ। जिसके बाद सिविल लाइन पुलिस को सूचना देकर हिरासत में दे दिया गया। जहां उससे पूछताछ जारी है।

सिविल लाइन थाना क्षेत्र में रामगंगा विहार में प्रथमा बैंक का मुख्यालय है। बैंक सुरक्षा अधिकारी के पी सिंह के मुताबिक करीब चार बजे डी एन गुप्ता नाम का एक शख्स बैंक में पहुंचा। उसने खुद को प्रधानमंत्री कार्यालय से आया हुआ बताया और बैंक में मौजूद अधिकारीयों पर रौब गांठते हुए गोपनीय जानकारी मांगने लगा। जिसके बाद बैंक अधिकारीयोंको उस पर शक हुआ। जब उससे परिचय पूछा गया तो उसने एक विजिटिंग कार्ड दिया। जिसमें उसका नाम सी ए डी एन गुप्ता लिखा था। और उस पर भारत सरकार का चिन्ह अशोक की लाट था। लेकिन इसके अलावा कोई और पहचान वो प्रस्तुत नहीं कर पाया। जिसके बाद बैंक अधिकारीयों ने पुलिस को सूचना दी और उसके खिलाफ कार्यवाही को लेकर तहरीर दी।
वहीँ उधर खुद को प्रधानमंत्री कार्यालय से सम्बद्ध बताने वाला ये अधिकारी कैमरे के सामने भी कोई संतोषजनक जबाब नहीं दे पाया। उसने बताया कि वो अभी कानपुर से आया है,उसे वित्त मंत्रालय से जांच के लिए फोन आया था। लेकिन न वो उस अधिकारी का नाम बता पर रहा जिसने फोन किया और न कोई लिखित आर्डर। लगातार मीडिया और बैंक अधिकारीयों को बरगलाने की कोशिश करता रहा।
यहां बता दें कि प्रथमा बैंक इन दिनों इसलिए भी सुर्ख़ियों में है क्यूंकि इसकी अमरोहा जनपद की हसनपुर शाखा में करोड़ों के गबन की जांच सीबीआई कर रही है। इसलिए संभवता ये संभावना जताई जा रही है कि ये फर्जी अधिकारी बनकर बैंक अधिकारीयों पर दबाब बनाकर नाजायज फायदा उठाता।

Tags:    

नवीनतम

Share it
Top