Breaking News
Home > पहले प्रेमजाल में फंसाती है फिर करती है अपना काम, फिर पहुच जाती है जीजा के पास!

पहले प्रेमजाल में फंसाती है फिर करती है अपना काम, फिर पहुच जाती है जीजा के पास!

 शिव कुमार मिश्र |  2018-02-19 13:51:10.0  |  मुरादाबाद

पहले प्रेमजाल में फंसाती है फिर करती है अपना काम, फिर पहुच जाती है जीजा के पास!

मुरादाबादः शादी से पहले कर्ज उतारने के नाम पर वसूली और शादी के बाद घर का कीमती सामान समेटकर फरार होने वाली एक लुटेरी दुल्हन को आखिरकार पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पिछले एक महीने से पुलिस इस लुटेरी दुल्हन को तलाश कर रही थी। मुरादाबाद पुलिस इस गिरोह की दो महिलाओं को पहले ही जेल भेज चुकी है। पकड़ी गई लुटेरी दुल्हन अमरोहा जनपद की रहने वाली हैं और वह अपने जीजा के साथ मिलकर गिरोह चला रही थीं।


हरियाणा निवासी युवक की शिकायत पर गिरफ्तार हुई लुटेरी दुल्हन अलग अलग नामों से युवकों को फंसाती थीं और मौका देखकर लूट की घटना को अंजाम देकर फरार हो जाती थी। पुलिस हिरासत में युवती का नाम गुलशन है जो अमरोहा जनपद के पनवाडी मोहल्ले की रहने वाली है। गुलशन ने एक महीने पहले हरियाणा निवासी युवक से पूजा बनकर मुलाकात की ओर अपने परिवार पर कर्जा होने की बात बताई थी। युवक ने ढेड़ लाख रुपये कर्जा चुकाने की बात मानकर पूजा से शादी का प्रस्ताव रखा तो पूजा के परिजन तैयार हो गए। गुलशन उर्फ पूजा के इस गिरोह में असल सरगना कासिम नाम का युवक है जो दुल्हन बनने वाली गुलशन का जीजा है।

गुलशन उर्फ पूजा शादी करने से पहले युवकों से रकम ऐंठने का प्लान बनाती हैं और गिरोह के बाकी सदस्य इस काम में उसका साथ देते थे। पैसे लेने के बाद गुलशन उर्फ पूजा की शादी कराई जाती और फिर ससुराल से नगदी ओर ज्वैलरी लेकर पूजा बहाने से फरार हो जाती थी।

लुटेरी दुल्हन के इस गिरोह की दो महिला सदस्यों को पुलिस ने पिछले महीने गिरफ्तार किया था जिसके बाद लुटेरी दुल्हन को तलाश किया जा रहा था। पुलिस को उस वक्त जानकारी मिली थी कि लुटेरी दुल्हन किसी दूसरे युवक के साथ शादी के बाद हनीमून मनाने गोवा गयी हुई हैं।गोवा से वापसी के बाद लुटेरी दुल्हन जब वापस अपने जीजा के पास पहुंचीं तो पुलिस ने उसे दबोच लिया। पुलिस हिरासत में पहुंची यह शातिर अब खुद को फंसाने की बात कह रही है।

अमरोहा जनपद से संचालित यह गिरोह पिछले कुछ सालों में कई युवकों को ठग चुका है। गिरोह में अलग- अलग उम्र की पांच से ज्यादा महिलाए शामिल है जिनको शादी के एवज में पांच से बीस हजार तक की रकम दी जाती थी।

Tags:    
Share it
Top