Home > गोल्ड मैडल बेटी, ने दहेज लोभियों से कहा गेट आउट, पति समेत तीन पर कराया मुकद्दमा दर्ज

गोल्ड मैडल बेटी, ने दहेज लोभियों से कहा गेट आउट, पति समेत तीन पर कराया मुकद्दमा दर्ज

 शिव कुमार मिश्र |  2017-12-14 12:20:46.0  |  मुरादाबाद

गोल्ड मैडल बेटी, ने दहेज लोभियों से कहा गेट आउट, पति समेत तीन पर कराया मुकद्दमा दर्ज

उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद की एक दिलेर बेटी ने अपनी शादी में ठीक फेरों से पहले दहेज में एक विदेशी कार और पंद्रह लाख की डिमांड करने इंटीरियर डिजाइनर दूल्हे और उसके परिवार को गेट आउट कह कर शादी के पंडाल से बाहर का रास्ता दिखा दिया. इतना ही नहीं दूल्हे सहित तीन लोगों के खिलाफ दहेज मांगने की धाराओ के तहत मुकदमा दर्ज करा दिया हैं.


बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ का नारा देकर देश की सरकार बेटियों को बचाने और पढ़ाने मैं लगी हैं. जिसके लिए बड़ी बड़ी योजनाएं क्रियान्वित की जा रही हैं. जिससे कि बेटियां अपने पैरों पर खड़ा हो पाए, जिससे वह समाज और देश के प्रति अपनी भागीदारी सुनिश्चित कर सके. सरकार की इतनी पहल के बाद भी भारतीय समाज में दहेज लोभियों की भरमार हैं जो आये दिन दहेज की खातिर बेटियों को प्रताड़ित करते रहते हैं ताजा मामला जनपद मुरादाबाद में सामने आया हैं .

जहां पर बैंक कर्मी की गोल्ड मेडलिस्ट बेटी भी दहेज के चलते शादी से वंचित रह गई , लेकिन इस बेटी ने दहेज लोभियों को सबक सिखाने का मन बना लिया हैं.

चंडीगढ़ के एक सरकारी कालेज से एम टेक कर गोल्ड मेडल लेने वाली ज्योति की शादी जीवन शादी डॉट कॉम के दुवारा बेंगलोर की कंपनी फ्यूचर ग्रुप में इंटीरियर डिजाइनर आशीष के साथ तय हुई. लड़की के पिता के अनुसार लड़का पक्ष ने शादी बिना दहेज के होनी तय की थी. शुरुआत में सब सामान्य चलता रहा, और शादी के लिए मुरादाबाद दिल्ली रोड स्थित पार्क स्क्वायर होटल बुक किया गया था. शादी के दिन भी अब कुछ सामान्य चल रहा था. बारात का स्वागत भी किया गया और बारातियों ने शादी का भरपूर आनंद भी लिया. लेकिन फेरो से ठीक पहले लड़के पक्ष ने एक बंद कमरे में लड़की के पिता कमल सिंह को बुलाकर दहेज की मांग करते हुए एक बड़ी कार और पन्द्रह लाख रुपये केश मांग कर अपना रंग दिखा दिया. जिसे सुन लड़की के हड़बड़ा गए क्योकि रात एक बजे और वो भी दहेज में इतनी बड़ी रकम सुन कमल सिंह सन्न रह गए, और खुद को संभालते हुए दहेज के लिए साफ तौर पर मना कर दिया.

होटल के कमरे से शोर शराबे की आवाज को सुन कर दुल्हन के जोड़े में तैयार ज्योति भी मौके पर पहुँच गई, और उसने भी दूल्हे आशीष को समझाया कि वो दोनों पढ़े लिखें हैं. जो चाहे खरीद सकते हैं, लेकिन उसके बाद भी दहेज लोभी परिवार अपनी मांग पर अड़ा रहा. आखिरकार दुल्हन बनी ज्योति ने दिलेरी दिखाते हुए आशीष और उसके परिवार को गेट आउट कह कर होटल से बाहर का रास्ता दिखा दिया,और मुरादाबाद में एक मिसाल पैदा की हैं कि दहेज लोभियों के साथ क्या किया जाये. जिससे कि समाज से इस बीमारी को हमेशा के लिए मिटाया जा सके.

मुरादाबाद की बेटी ज्योति ने एक ऐसे दहेज लोभी परिवार के मुंह पर तमाचा मारने का काम किया हैं जो वास्तव में समाज का कचरा कहा जाना सही हैं.

ज्योति ने अपने परिवार के सहयोग से आशीष और उसके पिता नरेश सहित तीन लोगों के खिलाफ थाना मझोला में मुकदमा दर्ज करा दिया हैं. देश की बेटियों को संदेश दिया हैं कि ऐसे दहेज मांगने वालों के सामने झुकने की जरूरत नही हैं वो लडकिया हैं और हर तरह से सक्षम हैं.

इस मामले में जानकारी देते हुए सी ओ रईश अख्तर ने बताया कि मामला दर्ज कर लिया गया हैं और जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी.

Tags:    
Share it
Top