Breaking News
Home > मुरादाबाद आरटीओ का फरमान, अधिकारियों पर कैसे करें लागू

मुरादाबाद आरटीओ का फरमान, अधिकारियों पर कैसे करें लागू

 शिव कुमार मिश्र |  2018-02-04 04:11:53.0  |  मुरादाबाद

मुरादाबाद आरटीओ का फरमान, अधिकारियों पर कैसे करें लागू

उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद के आरटीओ ने शासन का आदेश बताते हुए एक फरमान मुरादाबाद मंडल के पाँचो जिलों के सहायक सभागीये परिबहन अधिकारी ( प्रबर्तन ) को जारी किया हैं. इनका कहना हैं कि जिन चार पहिया वाहनों पर सिक्यॉरिटी बम्फर लगे पाए जाएंगे उनके खिलाफ चालानी कारवाही की जायेगी. लेकिन आरटीओ साहब ये भूल गए कि उनकी सरकारी गाड़ी पर तो पहले से ही बम्फर लगा हुआ हैं और आरटीओ साहब कैमरे के आगे झूठ पर झूठ बोलते नजर आये बोले हमारी सरकारी गाड़ी पर तो नहीं लगा है. इस आदेश को किस तरह अमल लाएंगे सहायक सभागीये परिबहन अधिकारी यह तो वक्त ही बताएगा लेकिन आरटीओ साहब की गाड़ी पर लगे बम्फर ने साफ कर दिया है की बी किस तरह शाशन के आदेशों की धजिज्या किस तरह उड़ा रहे है.

सड़क सुरक्षा को लेकर समय समय पर ट्रैफिक पुलिस और आरटीओ विभाग एक मुहिम चला कर वाहनों की चेकिंग करते हुए ऐसे वाहनों के खिलाफ चालानी कार्यवाही करते रहते हैं. जिससे सड़क पर चलने वालों को भी सुरक्षा दी जा सके, लेकिन जनपद मुरादाबाद में एक नया ही फरमान जारी किया हैं और वो भी मुरादाबाद के आरटीओ जगदीश सिंह तिवारी के दुवारा , इनका कहना हैं कि शासन से एक आदेश आया हैं कि जिन गाड़ियों पर सुरक्षा बम्फर लगे पाए गए उनके खिलाफ मोटर व्हीकल एक्ट के तहत चालानी कार्यवाही की जयेगी ,और ये काम शुरू भी हो गया हैं, लेकिन तिवारी जी ये भूल गए कि जिस सरकारी गाड़ी से वो अपनी ड्यूटी को अंजाम दे रहे हैं. वो खुद शासन के आदेश की धज्जियां उड़ा रही हैं क्योंकि उस पर तो बम्फर पहले से ही लगा हुआ हैं , और वो आरटीओ साहब के बाहर खड़ी हुई हैं.

दरअसल आरटीओ मुरादाबाद ने आदेश तो कर दिया हैं लेकिन उन्हें ये सोचना पड़ेगा कि मुरादाबाद के वरिष्ठ प्रशसनिक अधिकारियों की गाड़ियों पर लगे बम्फरो के खिलाफ वो कारवाही किस तरह से कर पाएंगे.



सागर रस्तोगी की रिपोर्ट

Tags:    
Share it
Top