Home > मुरादाबाद में दिखाई दी भाजपा की दहशत,वाहन चैकिंग में क्या रोका, पूरा पुलिस प्रशासन हिल गया

मुरादाबाद में दिखाई दी भाजपा की दहशत,वाहन चैकिंग में क्या रोका, पूरा पुलिस प्रशासन हिल गया

पुलिस के खिलाफ ,भाजपाइयों का हंगामा ,

 शिव कुमार मिश्र |  2018-03-14 09:37:11.0  |  मुरादाबाद

मुरादाबाद में दिखाई दी भाजपा की दहशत,वाहन चैकिंग में क्या रोका, पूरा पुलिस प्रशासन हिल गया

मुरादाबाद में वाहन चैकिंग के दौरान भारतीय जनता पार्टी के एक कार्यकर्ता को रोकटोक इतनी बुरी लगी कि पुलिस पर अभद्रता का आरोप लगाते हुए उसने बखेड़ा खडा कर दिया और उसके बुलावे पर भाजपा के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने इकठ्ठा होकर एसएसपी आवास के सामने बने पार्क में जाकर धरने पर बैठ गए और नारेबाजी करने लगे. एसएसपी किसी मीटिंग में थे और एसएसपी आवास के सामने भाजपा के नेताओं और कार्यकर्ताओं का हंगमा करने की सूचना पर वहां पहुचे ट्रेनी आईपीएस अधिकारी को भी भाजपा कार्यकर्ताओं और नेताओं ने जमीन पर बिठा दिया ,जो किसी भी बात पर मानने को तैयार नहीं थे.


भाजपा कार्यकर्ताओं का कहना था कि भाजपा का हर कार्यकर्ता अनुशाषित है. लेकिन उसके साथ अपराधी जैसा व्यवहार किया जा रहा है. जब तक भाजपा कार्यकर्त्ता के साथ अभद्रता करने वाले पुलिस वाले को निलम्बित नहीं किया जाएगा तब तक यहाँ से नहीं हटेंगे. इस दौरान मुरादाबाद के भाजपा महापौर विनोद अगरवाल भी वहां पहुच गए थे. हंगमा बढ़ने की सूचना पर एसपी सिटी मुरादाबाद वहां पहुचे और बमुश्किल सभी को उचित कार्यवाही का आश्वासन देकर शांत किया.

सत्ता का नशा किसे कहते हैं, उत्तरप्रदेश के मुरादाबाद में देखने को मिला है. थाना सिविल लाइन्स इलाके में वाहन चैकिंग के दौरान भाजपा के कार्यकर्ता कपिल राजपूत को जब रोका गया तो हंगामा हो गया,,हंगामा इतना बढ़ा कि भाजपा नेता और कार्यकर्ता एसएसपी/डी आई जी आवास के सामने बने पार्क में धरने पर बैठ गए और योगी मोदी जिंदाबाद के नारे लगाने लगे. एसएसपी /डी आई जी मीटिंग में थे. लिहाजा उनके आवास पर भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं के हंगामे की सूचना पर पहुचे ट्रेनी आईपीएस राजेश कुमार को भाजपा नेताओं ने आड़े हाथों लेकर जमीन पर जबरदस्ती बिठा लिया और ये दिखाने की कोशिश की गयी कि सत्ता हमारी है और एक आईपीएस उनके आगे जमीन में बैठकर गिद्गिदाता रहा कि आपकी बात सुनी जायेगी. हमारे सर आयेंगे.

एक आईपीएस को जमीन पर बिठाने के बाद भी भाजपाई अपने रंग में ही दिखाई दे रहे थे. सोने पर सुहागा तब हुआ जब मुरादाबाद के भाजपा महापौर विनोद अग्रवाल भी वहां पहुच गए जिन्हें देख भाजपाइयों को और रंग चढ़ गया और वहां मौजूद भाजपा नेताओं ने भाषण शुरू कर दिया. स्थानीय पुलिस थाना के एसएचओ और अन्य पुलिस कर्मियों को निलंबित करने की मांग कर दी. लेकिन भाजपा महापौर विनोद अग्रवाल ने तुरंत एसपी सिटी आशीष श्रीवास्तव को मौके पर बुलाया और एसपी ने जांच कर दोषियों के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही का आश्वासन देकर माहौल को शांत कराया.

Tags:    
Share it
Top