Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > मुरादाबाद > रेलवे और आर्मी इंटेलिजेंस में मच गया हडकंप, जब सेना के जवान के गायब हुए 180 कारतूस

रेलवे और आर्मी इंटेलिजेंस में मच गया हडकंप, जब सेना के जवान के गायब हुए 180 कारतूस

 Special Coverage News |  3 Jan 2019 7:03 AM GMT  |  दिल्ली

रेलवे और आर्मी इंटेलिजेंस में मच गया हडकंप, जब सेना के जवान के गायब हुए 180 कारतूस
x

रेलवे और आर्मी इंटेलिजेंस में उस समय हडकंप मच गया जब सेना की स्पेशल ट्रेन से किसी ने जवान की पेटी से ऑटोमैटिक राइफल के 180 कारतूस गायब कर दिए। वहीँ घटना के बाद जब सेना के जवान जीआरपी में रिपोर्ट लिखाने पहुंचे तो जिस प्लेटफार्म पर आर्मी स्पेशल ट्रेन खड़ी थी,उस प्लेटफार्म पर सीसीटीवी ही काम नहीं कर रहे हैं। फ़िलहाल मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गयी है। घटना मंगलवार की है। वहीँ इस घटना के बाद सुरक्षा एजेंसियां भी अलर्ट हो गयीं हैं,क्यूंकि ये कारतूस किसी आतंकी संगठन के हाथ तो नहीं लग गये।

लखनऊ जा रही थी ट्रेन

जानकारी के मुताबिक सेना की स्पेशल ट्रेन जम्मू से चलकर लखनऊ जा रही थी। मुरादाबाद रेलवे स्टेशन पर वो प्लेटफार्म नम्बर तीन पर आकर खड़ी हुई। इस बीच कोच में सवार एसएसबी के जवान की किसी ने जैकेट गायब कर दी। जैकेट के पोच में चार मैगजीन और 100 कारतूस थे। ट्रेन चलने के बाद जवान ने जब जैकेट गायब देखी तो उसके होश उड़ गये। उसने फौरन ही कम्पनी कमांडर को जानकारी दी। और ट्रेन की तलाशी ली,लेकिन कारतूसों का कुछ पता नहीं चला। इसके बाद जब ट्रेन बरेली के सीबी गंज पहुंची तो कमांडर कोच के एएसएम् और जवान को मुरादाबाद भेजकर रिपोर्ट दर्ज कराने भेजा।

छानबीन शुरू

इंस्पेक्टर जीआरपी पंकज पन्त ने बताया कि एसएसबी 70वीं वाहिनी के एएसआई अनिल कुमार ने 180 कारतूस गायब होने की रिपोर्ट दर्ज करवाई है। उसके मुताबिक जब वो सीट पर जैकट छोड़कर टॉयलेट करने गया इसी बीच किसी ने जैकेट गायब कर दी। छानबीन की जा रही है।

सीसीटीवी निकले खराब

वहीँ जानकारी के बाद जब जीआरपी टीम मौके पर पहुंची तो रेलवे ट्रैक के किनारे जैकेट का कपडा तो फटा हुआ मिला है,लेकिन कारतूस बरामद नहीं हुए हैं। इसके साथ ही प्लेटफार्म नम्बर 2 के सीसीटीवी भी खराब मिले। जिससे पता नहीं चल सका कि आखिर कारतूस कौन ले गया।

एजेंसियां अलर्ट

वहीँ आर्मी स्पेशल ट्रेन से सेना के कारतूस गायब होने के बाद सुरक्षा एजेंसियां भी अलर्ट हो गयीं हैं। क्यूंकि आम अपराधी इन कारतूसों को इस्तेमाल नहीं कर सकते। इसलिए इसे बड़ी साजिश भी माना जा रहा है। क्यूंकि मुरादाबाद और आसपास के इलाके में कई आतकी स्लीपर माडूल हैं। जिन्हें पिछले सप्ताह एनआईए ने अमरोहा से गिरफ्तार भी किया जबकि कई रडार पर हैं।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it