Top
Begin typing your search...

सपा-बसपा गठबंधन उम्मीदवार ने उड़ाई आचार सहिंता की धज्जियां, जब भीड़ बोली मेरे तीन सौ रूपये कौन देगा?

सपा-बसपा गठबंधन उम्मीदवार ने उड़ाई आचार सहिंता की धज्जियां, जब भीड़ बोली मेरे तीन सौ रूपये कौन देगा?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुरादाबाद के कलेक्ट्रेट परिसर का नजारा उस समय रोचक हो गया जब कई दर्जन महिलाओ ने पैसे न मिलने पर हंगामा किया, इन महिलाओं ने आरोप लगाया कि सपा-बसपा गठबंधन उम्मीदवार एसटी हसन के नामंकन जुलस में भीड़ बढ़ाने के लिए गोविंद नगर और दूसरे इलाकों से विशेष रूप से महिलाओं को तीन-तीन सौ रुपये का लालच देकर उन्हें बुलाया लाई गई कई दर्जन महिलाओं का कलेक्ट्रेट परिसर में हंगामा, मुरादाबाद लोकसभा सीट से गठबंधन के प्रत्यासी एसटी हसन हैं.


नामंकन के अंतिम चरण में आज सपा-बसपा गठबंधन के उम्मीदवार एसटी हसन पूरे लाव लक्सर के साथ नामंकन कराने के लिए निकले. इनके साथ पूर्व विधायक सहित कई पदाधिकारी और सैकड़ो कार्यकर्ताओं की भीड़ मौजूद थी. सपा-बसपा गठबंधन प्रत्यासी एसटी हसन दो-तीन किलोमीटर तक एक गाड़ी के ऊपर बैठ कर एक जुलूस के साथ कलेक्ट्रेट की तरफ निकले. बीच रास्ते में उनके कार्यकर्ता पटाखे छोड़ कर आचार संहिता की धज्जियां उड़ा रहे थे.


वही रास्ते में उम्मीदवार की तरफ से खानेपीने की भी भरपूर व्यवस्ता की गई थी. जो पूरी तरह से अचार सहिता के उलंघन की श्रेणी में आता है. दो घण्टे तक शहर के ट्रैफिक को तहस नहस करते हुए भीड़ के साथ कलेक्ट्रेट पहुँचे तो सपा-बसपा के कार्यकर्ताओं ने गेट पर पहुँच नारेबाजी करनी शुरू कर दी. उम्मीदवार अपने प्रस्तावकों के साथ नामंकन कराने के लिए चले गए, और कुछ देर बाद वो अपना नामंकन करा भी चले गए.


लेकिन उसके बाद कलेक्ट्रेट परिसर में जो हुआ उसने सपा-बसपा प्रत्यासी की पोल खोल कर रख दी, क्योंकि दर्जनों महिलाएं हंगामा कर रही थी, इन महिलाओं का कहना था. की उन्हें एसटी हसन की रैली में तीन सौ रुपये देने का वादा करके लाया गया था, और अब रैली भी निपट गई. उन्हें कोई पैसा नही दिया गया हैं. महिलाओ के इस आरोप ने सपा-बसपा गठबंधन के उम्मीदवार को आचार संहिता के उलंघन की श्रेणी में ला दिया हैं.

Special Coverage News
Next Story
Share it