Breaking News
Home > दारोगा ने दिखाया वर्दी का रौब, स्‍कूल वालों ने नहीं दिया भाव और फिर.

दारोगा ने दिखाया वर्दी का रौब, स्‍कूल वालों ने नहीं दिया भाव और फिर.

मुरादाबाद में पढने वाले दारोगा का बेटा 11 वीं क्‍लास में फेल हो गया तो जनाब वर्दी का रौब दिखाने स्‍कूल जा पहुंचे.

 शिव कुमार मिश्र |  2018-04-29 09:41:52.0  |  मुरादाबाद

दारोगा ने दिखाया वर्दी का रौब,  स्‍कूल वालों ने नहीं दिया भाव और फिर.

मुरादाबाद में पढने वाले दारोगा का बेटा 11 वीं क्‍लास में फेल हो गया तो जनाब वर्दी का रौब दिखाने स्‍कूल जा पहुंचे. हर महीने फीस देने के बाद भी बच्‍चे के फेल होने पर स्‍कूल की महिला स्‍टाफ को हड़काने लगे. दारोगा की अभद्रता का स्‍कूल स्‍टाफ ने वीडियो बना कर वायरल कर दिया इस पूरे मामले में पुलिस अधिकारी घटना के संज्ञान में होने की बात तो कह रहे हैं. लेकिन कोई तहरीर न आने की बात कह रहे हैं. उनका कहना है कि यदि शिकायत आती है तो कार्यवाही की जायेगी. उधर स्कूल की प्रधानाचार्य ने पूरे मामले से अधिकारियों को अवगत करा दिया है फ़िलहाल ये पूरा मामला चर्चा का विषय बना हुआ. दरोगा इस समय गाजियाबाद में तैनात बताया जा रहा है.

मुरादाबाद के मझोला थाना क्षेत्र स्थित सेंट मीरा ऐकेडमी में एक गाजियाबाद में तैनात दारोगा सुरजीत सिंह ने वहां मौजूद महिला स्टाफ को वर्दी का रौब दिखाते हुए खूब हडकाया. जिसका वीडियो वायरल कर दिया गया है. आरोप है कि दारोगा का बेटा स्कूल में 11 वीं क्लास में पढ़ता है. वह इस वर्ष फेल हो गया, जिसके बाद उसे दोबारा मौका दिया गया. इंप्रूवमेंट की परीक्षा में वह फिर फेल हो गया. इस पर दूसरी बार फिर इंप्रूवमेंट की परीक्षा कराई गई जिसमें भी वह फेल हो गया.

बेटे के तीन बार फेल होने पर दारोगा स्कूल में प्रिंसिपल पर्णिका प्रकाश के बुलावे पर मिलने पहुंचा, स्कूल में प्रिंसिपल मौजूद नहीं थी, जिसपर स्टाफ ने इंतज़ार करने को कहा. बस इसी बात पर दरोगा जी भड़क गए और वीडियो में साफ़ बोलते दिख रहा है कि उन्‍हें इंतज़ार करते दो घंटे हो गए. लेकिन कोई बात नहीं कर रहा. स्कूलवाले मनमानी फीस लेते हैं, उसके बाद भी बच्‍चों को नहीं पढ़ा पाते जो वह फेल हो गया। जब दरोगा से महिला स्टाफ ने कहा कि आप महिलाओं से कैसे बात कर रहे हो तो भी वर्दी का रौब दिखाते हुए उसने कहा कि वह कानून अच्‍छी तरह से जानता है और तुम्हारे जैसी रोजाना 50 महिलाओं की बातों को सुनता है.
स्कूल की डायरेक्‍टर/प्रधानाचार्या पर्णिका प्रकाश ने बताया कि दारोगा का बेटा 11 वीं क्लास में फेल हो गया. दो बार फिर से परीक्षा कराई जिसमें भी वह फेल हो गया. इसको लेकर दारोगा बेटे को पास कराने का दबाव बना रहे हैं. उन्‍होंने इसकी शिकायत जिलाधिकारी, एसएसपी की है. हालांकि दारोगा के ड्यूटी पर गाजियाबाद चले जाने की वजह से उनसे बात नहीं सकी है. उधर पुलिस अधिकारी मामले को संज्ञान में होना बता रहे हैं लेकिन किसी भी पक्ष की तरफ से कोई लिखित शिकायत को मना कर रहे हैं. लिखित शिकायत आने पर कार्यवाही की बात कह रहे हैं.

Tags:    
Share it
Top