Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > मुरादाबाद > जन प्रतिनिधि पार्टी की पहली मंथन बैठक कम्पनी बाग़ मुरादाबाद में हुई सम्पन्न

जन प्रतिनिधि पार्टी की पहली मंथन बैठक कम्पनी बाग़ मुरादाबाद में हुई सम्पन्न

 Special Coverage News |  20 Aug 2018 1:44 PM GMT  |  मुरादाबाद

जन प्रतिनिधि पार्टी की पहली मंथन बैठक कम्पनी बाग़ मुरादाबाद में हुई सम्पन्न
x

जन प्रतिनिधि पार्टी की पहली मंथन बैठक, कम्पनी बाग़, मुरादाबाद पर सम्पन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता लाठे हिंदुस्तानी ने की, जिन्हें विनीत चौहान ने ग्रीन मिलिट्री कैप जिस पर भारत का मानचित्र तिरंगे से सजा बिल्ले के रूप में लगा था और किसानों वाली साफी पहना कर स्वागत किया।


वीरेंदर प्रसाद ने मीटिंग का संचालन किया,उन्होंने बताया कि दोनों चिह्न लाठे हिंदुस्तानी को हरदम ये याद दिलाने के लिए दिए गए हैं कि भारत की इज़्ज़त, किसानों और सिपाहियों का सम्मान आपको सदैव अपने सर्व प्रमुख कर्तव्य के रूप में याद रखना है और निभाना है। बैठक को आदेश गुप्ता, अनन्त लोहिया, सौरभ सिंह, विनीत चौहान ने सम्बोधित किया। विनीत चौहान ने सभी आये हुए साथियों का स्वागत कर उन्हें भारत का मानचित्र रूपी बिल्ला लगाया और स्मृति चिन्ह दिया।

वक्ताओं ने पार्टी को स्वमं के धन और प्रयास से सफल बनाने का फैसला किया और किसी भी धन कुबेर के बल पर पार्टी को गति देने की सभी ने खिलाफत की। मीटिंग में ध्वनिमत से 100₹ सदस्यता शुल्क और 1000₹ संस्थापक सदस्यता शुल्क का प्रस्ताव पारित हुआ। और सदस्यों ने अपना अपना शुल्क जमा कराया।

लाठे हिंदुस्तानी ने अपने संबोधन में सर्व प्रथम देश के शहीदों का नमन किया और तदुपरांत पार्टी के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। उन्होंने बताया कि देश मे पक्ष और विपक्ष मिल कर खेल रहे हैं, जो अरबों रूपये की योजनाएं पिछले 72 सालों में बनी हैं बजाये उनको जनता तक पहुंचाने के लोगो को लाभ दिलाने के, फालतू सवालों में उलझा दिया जाता है और नई मांगे लेकर खड़े हो जाते हैं, जबकि यथार्थ ये है कि जो हमारे नाम से पहले से ही हमारा हक़ मौजूद है उसकी बंदर बांट होती रहती है।

जिन प्रकोष्ठ सेवा दलों का निर्माण करा जा रहा है, उनका उद्देश्य यही है कि सभी लोग अपने सेवा दल से संभंधित योजनाओ को तलाशें, उनको कैसे अंतिम व्यक्ति तक ले जाना है उसपर चर्चा करें, कार्यक्रम बनाएं और लोगो को लाभ पहुंचाएं।

लाठे ने बताया बहुत चालाकी से मामूली आदमी हमारे आपके जैसे लोगो को ये समझा दिया गया है, की तुम भी तो बेईमान हो और एक बईमान दूसरे बईमान पर उंगली नही उठा सकता। लेकिन ये सममोहन है। आम आदमी जो भी बईमानी करता है लाभ के लिए नही अस्तित्व बचाने के लिए करता है। और नेता व उद्योगपति, सरकारी मशीनरी बईमानी अपने घर भरने के लिए करते है । देश को लूटते हैं। इसलिए खुलकर विरोध करें भ्रष्टाचार का। और सवाल उठाने से न चूंके।

मीटिंग का समापन सूक्ष्म जलपान से कर गया। मीटिंग में गौरव शर्मा, मोहम्मद शाहरुख मालिक, सतीश दुबे, राजेन्द्र प्रसाद, संजीव वार्ष्णेय आदि साथियों ने प्रमुखता से भाग लिया। सम्मानित अतिथि के रूप में धवल दीक्षित, शैलेश भारतीय अनन्त लोहिया ने भागीदारी की।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it