Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > मुज्जफरनगर > SCST एक्ट पर हाईकोर्ट ने जारी किया डीजीपी को निर्देश

SCST एक्ट पर हाईकोर्ट ने जारी किया डीजीपी को निर्देश

 Special Coverage News |  23 Dec 2018 2:25 PM GMT  |  प्रयागराज

SCST एक्ट पर हाईकोर्ट ने जारी किया डीजीपी को निर्देशUP DGP OP Singh (File Photo)

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर थाने में दर्ज एससी-एसटी एक्ट की प्राथमिकी को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई हुई। जिस में यूपी पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह को प्रयागराज हाईकोर्ट ने निर्देश दिया है। तहरीर की जांच अवश्य कर लिया जाए। मजबूत यहां कोई ठोस वजह होने पर ही एससी-एसटी एक्ट लगाया जाए।


प्रयागराज हाईकोर्ट ने डीजीपी को सभी थानों को इस संबंध में दिशा निर्देश जारी करने का निर्देश दिया है। मुजफ्फरनगर के चरथावल थाने में दर्ज एससी-एसटी एक्ट की प्राथमिकी को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई हुई। जिस पर न्यायमूर्ति वीके नारायण और न्यायमूर्ति एसके सिंह यह आदेश दिया है। साथ ही याची नीरज कुमार मिश्र व अन्य ने याचिका में प्राथमिकी रद्द करने की मांग की है। याची का कहना है कि, एससी-एसटी एक्ट के तहत कोई अपराध न बनने के बावजूद उस पर धाराएं लगा दी गई हैं।


आईपीसी की धाराओं के तहत अपराध में 7 साल से अधिक की सजा नहीं हो सकती। एससी-एसटी एक्ट की धारा 3(1) व 3(2)(1) के तहत प्राथमिकी के आरोपों से कोई अपराध बनता ही नहीं है। ऐसे में उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जा सकता। कोर्ट ने डीजीपी को सर्कुलर जारी करने का आदेश देते हुए इस मामले पर अगली सुनवाई 25 जनवरी मुकर्रर की है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top