Top
Begin typing your search...

आज भी बेड पर मदद के इंतजार में है पुलिस की गोली का शिकार जितेंद्र यादव, योगी सरकार से मिला था आश्वासन

फर्जी एनकाउंटर का शिकार हुए जितेंद्र कभी लोगों को अच्छी सेहत के टिप्स दिया करते थे, घटना के वक्त सरकार ने उनको मदद देने का आश्वासन दिया था, लेकिन वो अभी तक सरकारी मदद का इंतजार ही कर रहे हैं..

X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा : लखनऊ में यूपी पुलिस के सिपाहियों के हाथो क़त्ल हुए विवेक तिवारी के परिजनों को ढाढ़स बँधाने और मदद करने में सरकार ने जैसी तत्परता दिखाई वह क़ाबिले तारीफ़ है। इस बीच सोशल मीडिया पर जिम ट्रेनर जीतेंद्र यादव का मामला भी उठ गया है। फर्जी एनकाउंटर का शिकार हुए जितेंद्र यादव कभी लोगों को अच्छी सेहत के टिप्स दिया करते थे। वो नोएडा में जिम ट्रेनर थे। लेकिन पुलिस की गोली के शिकार होने की वजह से वो बीते 8 महीने से बेड पर हैं। घटना के वक्त सरकार ने उनको मदद देने का आश्वासन दिया था, लेकिन वो अभी तक सरकारी मदद का इंतजार ही कर रहे हैं।

जितेंद्र यादव के गले में लगी गोली रीढ़ की हड्डी में फंस जाने से उनका शरीर का निचला हिस्सा काम नहीं कर रहा है। करीब आठ महीने पहले घटी इस घटना के बाद सब उन्हें भूल चुके हैं। वह प्रदेश सरकार से किसी प्रकार की सहायता की उम्मीद छोड़ चुके हैं।

नोएडा के सेक्टर- 122 स्थित पर्थला खंजरपुर के रहने वाले जितेंद्र यादव उर्फ डंबर का हाल जानने जब उनके घर पहुंचे तो वह अपने घर के कमरे में बिस्तर पर लेटे मिले। उनका बिस्तर एक पुराने अस्पताल के बेड पर लगा हुआ था....

देखिए स्पेशल कवरेज न्यूज़ की रिपोर्ट.......


Special Coverage News
Next Story
Share it