Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > नोएडा > गौतमबुद्ध नगर से 51 बसों में 1184 छात्रों को भेजा उनके घर, 14 दिन तक रहना होगा होम क्वारेन्टाइन

गौतमबुद्ध नगर से 51 बसों में 1184 छात्रों को भेजा उनके घर, 14 दिन तक रहना होगा होम क्वारेन्टाइन

जिन सभी बच्चों को आज जिला प्रशासन की ओर से उनके घर भेजने की कार्यवाही की गई।

 Shiv Kumar Mishra |  3 May 2020 2:39 PM GMT  |  नोएडा

गौतमबुद्ध नगर से 51 बसों में 1184 छात्रों को भेजा उनके घर, 14 दिन तक रहना होगा होम क्वारेन्टाइन
x

नोएडा। कोविड-19 वैश्विक महामारी को दृष्टिगत रखते हुए शासन के निर्देश पर नोडल अधिकारी कोविड-19 नरेंद्र भूषण एवं जिलाधिकारी सुहास एलवाई के नेतृत्व में 1184 स्कूली बच्चों को उनके घर भेजने की जिला प्रशासन के द्वारा व्यवस्था की गई। कुल 51 बसों के माध्यम से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए बच्चों को उनके घर भेजा गया। सभी बच्चों को अपने घर पहुंच कर 14 दिन तक रहना होगा होम क्वॉरेंटाइन।

आज विश्वविद्यालय, कॉलेजों के स्कूली 1184 बच्चों को उनके घर भेजने की व्यवस्था की गई है। जिला प्रशासन, पुलिस एवं परिवहन विभाग के द्वारा संयुक्त कार्यवाही करते हुए 51 बसों का प्रबंध करते हुए जनपद के विभिन्न सेंटर से सभी बच्चों को उनके घरों पर भेजा गया है। इस कार्यक्रम के प्रभारी अधिकारी एवं अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व मुनींद्र नाथ उपाध्याय ने जानकारी देते हुए अवगत कराया है कि सभी 11 84 बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग के माध्यम से सभी बसों में बैठाकर उनके गंतव्य को रवाना किया गया है। सभी बच्चों को खाने के फूड पैकेट एवं पानी की बोतल उपलब्ध कराई गई है तथा उन्हें अपने घर पहुंच कर 14 दिन तक होम क्वॉरेंटाइन रहने के लिए प्रशिक्षित किया गया है, ताकि इस वैश्विक महामारी से के संक्रमण से सभी बच्चों को सुरक्षित रखा जा सके।

उन्होंने यह भी बताया कि सभी बसों को सैनिटाइज करने के उपरांत सभी बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग के माध्यम से बसों में बैठाकर रवाना किया गया है। उन्होंने बताया कि जनपद में 11 84 बच्चों के द्वारा अपने घर जाने के लिए निर्धारित ऐप पर रजिस्ट्रेशन कराया गया था जिन सभी बच्चों को आज जिला प्रशासन की ओर से उनके घर भेजने की कार्यवाही की गई।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it