Top
Begin typing your search...

नोएडा में बाइक बोट घोटाले में 50 हजार रुपये का इनामी बदमाश गिरफ्तार

नोएडा में बाइक बोट घोटाले में 50 हजार रुपये का इनामी बदमाश गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

धीरेन्द्र अवाना

नोएडा। अपराध पर अंकुश लगाने वाली पुलिस को उस वक्त एक बड़ी सफलता मिली जब एसटीएफ की नोएडा युनिट और अर्थिक अपराध शाखा मेरठ ने एक संयुक्त अभियान के तहत बाइक बोट घोटाले में वांछित 50 हजार रुपये के इनामी बदमाश को गिरफ्तार किया।अभियुक्त करीब 26 मामलों में वांछित चल रहा था।आपको बता दे कि पुलिस आयुक्त के निर्देश पर अपराधियों के खिलाफ कारवाई हो रही है।

इसी क्रम में प्रदेश एसटीएफ के एसपी कुलदीप नारायण के कुशल नेतृत्व में दादरी पुलिस ने एसटीएफ नोएडा युनिट और अपराध शाखा मेरठ के साथ मिलकर जिले में हुए अरबों रुपये के बाइक बोट घोटाले में वांछित 50 हजार रुपये के इनामी बदमाश को शिवनादर युनिवर्सटी दादरी के पास से गिरफ्तार किया गया। आरोपित की पहचान ललित भाटी पुत्र चतर सिंह निवासी सैदीपुर सैठ थाना मवाना मेरठ के रुप में हुयी।

वही पश्चिमी उत्तर प्रदेश के एसटीएफ के एसपी कुलदीप नारायण ने मीडिया को बताया कि सोमवार देर रात नोएडा एसटीएफ यूनिट तथा आर्थिक अपराध शाखा मेरठ ने एक संयुक्त अभियान के तहत सोमवार देर रात बदमाश ललित भाटी को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। ललित भाटी पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने 50,000 रुपये का इनाम घोषित किया था।ललित भाटी बाइक बोट घोटाले में दर्ज 26 मामलों में वांछित था। ललित की तलाश में कई महीने से पुलिस टीम लगी थी।

इस गिरफ्तारी के बाद ग्रेटर नोएडा पुलिस ने राहत की सांस ली है। आरोपित को पूछताछ के लिए जल्द ही नोएडा लाया जाएगा।इस मामले में संजय भाटी सहित कई लोग जेल में है।आपको बता दे कि इससे पहले भी एसटीएफ ने ही आर्थिक अपराध शाखा के साथ मिलकर वांछित चल रहे 50-50 हजार रुपये के दो इनामी बदमाश सचिन भाटी और पवन भाटी को इसी महीने गिरफ्तार किया था।

बता दें कि बाइक बोट के नाम हुए करीब 3500 करोड़ के घोटाले में 57 मुकदमे दर्ज हुए और अब तक एक दर्जन से अधिक आरोपियों की ही गिरफ्तारी हो पाई है।कई अब भी फरार है जिसकी तलाश में जिले की टीम जुटी हुई है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it