Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > नोएडा > नोएडा डीएम के बाद कोरोना की भेट चढ़े सीएमओ अनुराग भार्गव,डाक्टर एपी चतुर्वेदी बने नये सीएमओ

नोएडा डीएम के बाद कोरोना की भेट चढ़े सीएमओ अनुराग भार्गव,डाक्टर एपी चतुर्वेदी बने नये सीएमओ

अनुराग भार्गव की जगह एपी चतुर्वेदी गौतमबुद्ध नगर जिले के नए सीएमओ नियुक्त हुए हैं. राज्य सरकार ने नए सीएमओ की नियुक्ति ऐसे वक्त में की है, जब अकेले गौतमबुद्ध नगर जिले में कोरोना के कुल 45 मामले सामने आ चुके हैं.

 Shiv Kumar Mishra |  2 April 2020 2:23 AM GMT  |  नोएडा

नोएडा डीएम के बाद कोरोना की भेट चढ़े सीएमओ अनुराग भार्गव,डाक्टर एपी चतुर्वेदी बने नये सीएमओ
x

(धीरेन्द्र अवाना)

नोएडा।जिले में कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुये कुछ दिन पूर्व मुख्यमंत्री ने इस मामले को गंभीरता से ना लेने की वजह से डीएम को उनके पद हटा दिया था।अब दूसरा बड़ा फैसला लेते हुये बुधवार देर रात जिले के सीएमओ अनुराग भार्गव को हटा करके डाक्टर एपी चतुर्वेदी को नया सीएमओ बनाया है।

आपको बता दे कि गौतमबुद्ध नगर में लगातार कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है।बुधवार को भी इसमें इजाफा होते हुये दस नए मरीज सामने आए हैं।अब जिले में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 48 हो गई है।बताते चले कि कुछ दिन पूर्व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना वायरस के संक्रमण और उससे बचाव के इंतजामों का जायजा लेने के लिए गौतमबुद्ध नगर आए थे।

गौतमबुद्ध नगर विश्वविद्यालय में समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने नाराजगी जाहिर करते हुये कोरोना वायरस से निपटने के इंतजामों को नाकाफी बताया था।इसके बाद गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी ने सफाई देनी चाहिए तो मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बिफर पड़े। उन्होंने डीएम बीएन सिंह को कड़ी फटकार लगाई। इसके बाद जिलाधिकारी ने 3 महीने का अवकाश लेने के लिए शासन को चिट्ठी लिख दी। सरकार ने बीएन सिंह को अवकाश नहीं दिया और गौतम बुद्ध नगर से तबादला कर राजस्व परिषद में अटैच कर दिया है।

मुकदमा दर्ज करने का निर्देश

वहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में चार दिवसीय तब्लीग जमात से लौटे प्रदेश के 157 लोगों के अपनी जांच न कराने पर सख्त नाराजगी जताई है। उन्होंने सूचना छिपाने वालों पर कड़ी कार्रवाई करते हुए मुकदमा दर्ज करने का निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री बुधवार को अपने आवास पर कोरोना वायरस कोविड-19 पर नियंत्रण के लिए लागू लॉकडाउन व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि दिल्ली से लौटे जमातियों के बारे में जानकारी लेने के साथ ही सभी को निर्देश दिया कि अगर कोई भी इनके बारे में कोई सूचना नहीं देता है या फिर इनकी पहचान छुपाने का प्रयास करता है तो फिर उसके खिलाफ ही केस दर्ज करें।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it