Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > नोएडा > आर्सेनिक अल्बम के मिले सकारात्मक परिणाम : डा. ललित मोहन जौहरी

आर्सेनिक अल्बम के मिले सकारात्मक परिणाम : डा. ललित मोहन जौहरी

 Shiv Kumar Mishra |  23 July 2020 12:48 PM GMT  |  नोएडा

आर्सेनिक अल्बम के मिले सकारात्मक परिणाम : डा. ललित मोहन जौहरी
x

धीरेन्द्र अवाना

नोएडा। कोरोना संक्रमण काल में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली दवा (इम्युनिटी बूस्टर) आर्सेनिक अल्बम 30 के सकारात्मक परिणाम देखने को मिले हैं। जिला होम्योपैथी चिकित्सा अधिकारी (डीएचएमओ) ने इस दवा के अच्छे परिणाम देखते हुए कोविड 19 पॉज़िटिव व क्वेरेंटाइन किए गए रोगियों को भी होम्योपैथिक चिकित्सा पद्धति व औषधियों से उपचार करने की बात कही है। जिला होम्योपैथी चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि उन्होंने इस संबंध में आयुष विभाग से अनुरोध किया है।

जिला होम्योपैथिक चिकित्सा अधिकारी डॉ. ललित मोहन ज़ौहरी ने बताया कि कोरोना काल में विभाग की ओर से जनपद गौतम बुद्ध नगर में आयुष सचिव भारत सरकार, आयुष विभाग उत्तर प्रदेश शासन के आदेश पर जिलाधिकारी के नेतृत्व में व्यापक स्तर पर होम्योपैथिक इम्युनिटी बूस्टर दवा आर्सेनिक अल्बम 30 का वितरण कराया जा रहा है। माह मार्च से 20 जुलाई तक लगभग एक लाख व्यक्तियों को दवा वितरित की जा चुकी है। दवा वितरण का कार्य सभी होम्योपैथी चिकित्सकों द्वारा किया गया। दवा वितरण पुलिस लाइन, जिला जेल लुकसर, कोर्ट अधिवक्ता संघ परिसर, एडिना सोसाइटी अल्फा वन, आम्रपाली प्रिंसली एस्टेट सेक्टर-76, सी एचसी दादरी कोतवाली व दादरी टाउन, शहरी क्षेत्र गौतमबुद्ध नगर सहित कई इलाकों में किया गया।

डा. जौहरी ने बताया जिन क्षेत्रों में दवा का वितरण किया गया था, उन्होंने उन क्षेत्रों में दवा के परिणाम देखने के लिए एक सर्वे कराया। उन्होंने बताया कि आम्रपाली प्रिंसली एस्टेट में पूरी सोसाइटी को यह दवा दी गई थी। अभी तक वहां कोई भी केस पॉजिटिव नहीं आया है। इसी तरह सनवर्ल्ड वनालिका में दवा दी गई, वहां केवल दो केस पॉजिटिव आए हैं, लेकिन पता चला कि जो दो लोग पॉजिटिव पाए गये थे, उन्होंने दवा नहीं खाई थी। इसी तरह सिल्वर सिटी सोसाइटी सेक्टर 93 नोएडा में मात्र एक केस पॉजिटिव आया है। यहां लगभग 1200-1500 लोगों को दवा दी गई थी। जेल में लगभग 3000 बंदियों व अन्य अधिकारी/कर्मचारीगणों को दवा दी गई थी यहां भी कोई पॉजिटिव नहीं आया है। उन्होंने बताया दादरी में विधायक तेजपाल नागर ने भी इस बात को स्वीकार किया है कि दादरी में भी दवा से लोगों की इम्युनिटी बढ़ी है और बहुत ही कम पॉजिटिव केस आएं हैं।

उन्होंने बताया दवा वितरण के एक माह पश्चात जाँच करने पर प्रतिपुष्टि हुई है कि दवा ने इम्युनिटी बूस्टर का कार्य बख़ूबी किया है। जिस-जिसने दवा का सेवन किया, उन सभी ने दवा के सकारात्मक परिणाम की पुष्टि की है। सकारात्मक परिणाम को देखते हुए उन्होंने डाटा सहित यह रिपोर्ट उत्तर प्रदेश शासन को भेजी है। साथ ही उन्होंने आयुष विभाग से अनुरोध किया है कि कोविड 19 पॉज़िटिव व क्वेरेंटाइन किए गए रोगियों को भी होम्योपैथिक चिकित्सा पद्धति व औषधियों से उपचार करने की अनुमति प्रदान की जाए। डा. ज़ौहरी ने बताया आर्सेनिक अल्बम 30 की दूसरी खुराक को ज़िले में वृहद स्तर पर शीघ्र ही पुनः वितरित कराया जाना प्रस्तावित है।

होम्योपैथी पद्धति, जो स्पेनिश फ्लू,जापानी एन्सिफलाइटिस, प्लेग,फ्लू आदि में अपने असर की प्रमाणिकता को सिद्ध कर चुकी है, क्या उसको भारत सरकार या प्रदेश सरकार कोरोना रोगियों के उपचार की स्वीकृति देगी?

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it