Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > नोएडा > नोएडा : सैनिटाइजर खरीदने में परेशानी हो रही है तो परेशान न हों, करें ये काम और कोरोना से बचें!

नोएडा : सैनिटाइजर खरीदने में परेशानी हो रही है तो परेशान न हों, करें ये काम और कोरोना से बचें!

ग्रेटर नोएडा में कोरोना वायरस की आड़ में मास्क और सैनिटाइजर की ब्लैक मार्केटिंग

 Shiv Kumar Mishra |  13 March 2020 10:29 AM GMT  |  दिल्ली

नोएडा : सैनिटाइजर खरीदने में परेशानी हो रही है तो परेशान न हों, करें ये काम और कोरोना से बचें!
x

ग्रेटर नोएडा. उत्तर प्रदेश के नोएडा ओर ग्रेटर नोएडा में मास्क और सैनिटाइजर को लेकर ब्लैक मार्केटिंग शुरू हो गई है. स्थिति ये है कि ग्राहकों से खुलेआम एमआरपी से ज्यादा रुपए वसूले जा रहे हैं. मामले में प्रशासन ने एक्शन शुरू कर दिया है. अभी तक 14 दुकानों का चालान काटा गया है.

प्रशासन के अनुसार पिछले एक हफ्ते में नोएडा और ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में 40 दुकानों का निरिक्षण किया गया. ग्राहकों के तरफ से लगातार प्रशासन को शिकायतें मिल रही थीं कि यहां मास्क और सैनिटाइजर के नाम पर ब्लैक मार्केटिंग की जा रही है. इसी क्रम में वैलनेस क्लिनिक, श्री अमृता फार्मसी और लांग लाइफ़ मैक्सीकॉज सहित 14 दुकानों के खिलाफ चालान काटने की कार्रवाई की गई है.

मास्क न मिलें तो परेशान न हों, करें ये उपाय

वहीं मामले में लखनऊ के सिविल अस्पताल के सीएमएस डॉ आशुतोष दुबे इस बात को साफ कहते हैं कि कोरोना पर मास्क को लेकर ज्यादा चिंतित होने की जरूरत नहीं है. अगर किसी के पास मास्क नहीं है तो वो रुमाल या अंगौछे का प्रयोग कर सकते हैं. किसी तरह से इस पर परेशान होने की जरूरत नहीं है. अगर आप को छींक या खांसी आती है तो हाथ से नाक को पूरी तरह से ढंक लें. इससे वायरस फैलने से रुकेगा.

'N-95 जैसे मास्क के प्रयोग की सलाह देना गलत'

उन्होंने कहा कि मार्केट में बिक रहे तमाम तरह के मास्क जो कोरोना का वायरस रोकने का दावा करते हैं, वो बिल्कुल गलत हैं. N-95 जैसे मास्क का प्रयोग करने की सलाह देना बिल्कुल गलत है. ठीक उसी तरह सैनेटाइजर को लेकर भी लोग बहुत पैनिक न हों. अपने हाथ लगातार धुलते रहें, सैनेटाइजर की जरूरत नहीं पड़ेगी.डॉ आशुतोष दुबे कहते हैं कि लोग कोरोना को लेकर कतई परेशान न हों. न ही किसी तरह की अफवाह को सुनें और न ही इस पर भरोसा करें. किसी भी तरह की सलाह या समाधान के लिये डॉक्टर से मिलें, सही सलाह लें.

साबुन से हाथ धोकर चलाएं काम

उधर एसजीपीजीआई के माइक्रोबायोलॉजी विभाग की एचओडी डॉ उज्जवला घोषाल ने बताया कि सैनेटाइजर न हो तो किसी भी साबुन से हाथ धोने से काम चल सकता है. कोरोना वायरस लिक्विड की एक परत के नीचे होता है, साबुन से हाथ धोने पर लिक्विड की ये परत टूट जाती है और वायरस खत्म हो जाता है. उन्होंने कहा कि इसलिए सैनेटाइजर के पीछे ज्यादा परेशान होने की जरूरत नहीं है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it