Top
Begin typing your search...

फ्लैट का झांसा देकर ठगी करने वाला निदेशक संजीव श्रीवास्तव नोएडा से गिरफ्तार

फ्लैट का झांसा देकर ठगी करने वाला निदेशक संजीव श्रीवास्तव नोएडा से गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

गौतमबुद्ध नगर: निवेशकों को सेट का झांसा देकर करोड़ों की ठगी करने वाले ऐसोटेक कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक संजीव श्रीवास्तव को दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने गिरफ्तार किया है।

जांच में पता चला है कि आरोपी पर फर्जीवाड़ा करने के कई मामले दर्ज है शाखा की टीम निदेशक से पूछताछ कर जांच में जुटी हुई है।

नोएडा निवासी संजीव श्रीवास्तव के खिलाफ साल 2016 में सुधीर कुमार गुप्ता ने ठगी की शिकायत दर्ज करवाई थी ऐसोटेक कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ने अपनी परियोजनाओं के तहत बन रहे फ्लैट को खरीदने का सब्जबाग दिखाकर उनसे करोड़ों की ठगी की थी।

शिकायतकर्ता सुधीर कुमार गुप्ता को कंपनी ने यह सब्जबाग दिखाया था कि अगर वह एक साथ करोड़ों रुपए इन्वेस्ट करते हैं तो उन्हें बहुत सारा फायदा होगा जिसके तहत उन्होंने एक साथ ही 40 फ्लैट बुक करा लिए थे।

शिकायतकर्ता को सितंबर 2014 में ऐसोटेक केनोपी के विभिन्न टावरों में आवासीय इकाइयों की पेशकश की गई थी। शिकायतकर्ता ने 40 फ्लैट बुक कराए थे। भुगतान योजना के मुताबिक बुकिंग के 60 दिन के भीतर फ्लैटों की लागत 30 फीसद देना था। लेकिन जब शिकायतकर्ता भुगतान करने को तैयार हुए तो कुछ समय का इंतजार करने के लिए कहा गया और बाद में उन्हें पता चला कि जो फ्लाइट उन्होंने बुक कराए हैं उन्हें दूसरे लोगों का आवंटित कर दिए गए हैं।

आरोपी संजीव श्रीवास्तव पर आरोप है कि शिकायतकर्ता को उन्होंने अपने दूसरे प्रोजेक्ट में फ्लैट देने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करने का झूठा आश्वासन दिया सुधीर कुमार ने इसके लिए 5.16 करोड रुपए भुगतान किए थे।

कुछ समय बाद वह प्रोजेक्ट साइट पर गए तो देखा वहां कोई निर्माण नहीं हो रहा है।

बिहार निवासी संजीव श्रीवास्तव की प्राथमिक शिक्षा पटना से हुई है। संजीव श्रीवास्तव छोटे ग्रुप की 26 कंपनियों के निदेशक है।

ललित पंडित
Next Story
Share it