Top
Begin typing your search...

अग्निशमन विभाग का मुख्य आरक्षी रंगे हाथों गिरफ्तार, 30 हजार घूस की थी मांग

अग्निशमन विभाग का मुख्य आरक्षी रंगे हाथों गिरफ्तार, 30 हजार घूस की थी मांग
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

धीरेन्द्र अवाना

नोएडा। अपराध व अपराधियों पर अंकुश लगाने वाली पुलिस को एक बड़ी सफलता उस समय हाथ लगी जब नाेएडा के फेज-2 स्थित अग्निशमन केंद्र में तैनात मुख्य आरक्षी को मेरठ एंटी करप्शन ब्यूरो ने सोमवार की देर रात गिरफ्तार किया है। वह एनओसी देने के नाम पर एक व्यक्ति से 30 हजार रुपये घूस ले रहा था।मंगलवार को कार्रवाई कर उसे जेल भेज दिया गया है।

एंटी करप्शन के निरीक्षक चन्द्रभान शर्मा ने मंगलवार को बताया कि सेक्टर 115 स्थित एक निजी स्कूल एसवी पब्लिक स्कूल के संचालक नीरज सिंह ने ब्यूरो को शिकायत की थी।शिकायत के अनुसार फेज 2 स्थित फॉयर स्टेशन के मुख्य आरक्षी नरेश कुमार उनसे स्कूल के एनओसी बनवाने के लिए 30 हजार रुपये की मांग कर रहे है।

उन्होंने बताया कि इसके बाद एक टीम बनाई गई और सोमवार को रात में नरेश कुमार को 30 हजार घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।उसके बाद फेज-2 थाना में उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया गया है। थाना निरीक्षक फरमूद अली पुंडीर ने बताया कि एंटी करप्शन के निरीक्षक चन्द्रभान शर्मा ने सोमवार को मुकदमा दर्ज करवाया था।

पूछताछ के बाद मंगलवार को आरोपित मुख्य आरक्षी को जेल भेज दिया गया।उससे पूछताछ में कई चौंकाने वाली बात सामने आई है।उल्लेखनीय है कि पिछले महीने एफएसओ कुलदीप कुमार को ऑनलाइन एनओसी देने में भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तार किया गया था।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it