Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > नोएडा > बीपीटीपी बिल्डर्स की लापरवाही की भेंट चढ़े चार मजदूर

बीपीटीपी बिल्डर्स की लापरवाही की भेंट चढ़े चार मजदूर

 Special Coverage News |  2018-10-07 14:08:39.0  |  नोएडा

बीपीटीपी बिल्डर्स की लापरवाही की भेंट चढ़े चार मजदूर

धीरेन्द्र अवाना

नोएडा। नोएडा जैसे हाइटेक शहर में घर खरीदना किसी भी व्यक्ति की जिंदगी का सबसे बड़ा निवेश होता है। अधिकतर लोग अपना आशियाना बनाने के लिए अपनी जीवन भर की जमा पूंजी लगा देते हैं।लेकिन इन लोगों को ये नही पता होता कि जिस बिल्डर की साइट पर ये मकान खरीदते है। वहा बिल्डर की लापरवाही के चलते कितने मजदूर अपनी जान गंवा चुके है। जो व्यक्ति गरीब मजदूर का नही हुआ वो आपका कैसे हो सकता है।


अर्थात वो आपको अधेरें से रख कर गलत चीज दे सकता है।नोएडा एनसीआर में विभिन्न बिल्डरों की परियोजनाएं निमार्णाधीन है। इमारत निर्माण में बिल्डर व ठेकेदार कार्य में सुरक्षा मानकों को लेकर लापरवाही बरत रहे हैं।इमारत निर्माण के साथ लिफ्ट व तार फेसिंग आदि का काम कर रहे कर्मचारियों और मजदूरों को बिना सुरक्षा उपकरण के ऊंची-ऊंची इमारतोंं पर चढ़ाया जा रहा है।श्रमिक जान जोखिम में डालकर काम करने को मजबूर है। इसका खामियाजा श्रमिकों को जान गवांकर भुगतना पड़ रहा है। विभिन्न बिल्डरों की साइट पर अब तक दर्जनों श्रमिक मौत के मुंह में जा चुके हैं। बहुमंजिला इमारतों में ऊंचाई पर काम करने वाले श्रमिकों की सुरक्षा के लिए उसे हेलमेट, सेफ्टी बेल्ट लगाने और साइट पर सेफ्टी नेट लगाने के निर्देश हैं ताकि नीचे गिरने पर जाल में अटकने से उनकी जान बच सके। लेकिन शहर में कहीं भी इसका पालन नहीं किया जाता और दूसरी ओर श्रम विभाग भी श्रमिकों की सुरक्षा नियमों का पालन कराने को लेकर गंभीर नजर नहीं आता।

ताजा माला नोएडा के सेक्टर 94 में बीपीटीपी बिल्डर्स का है जहा कैपिटल सिटी नामक एक इमारत का निर्माण कार्य चल रहा था।जहा शटरिंग गिरने से कई मजदूर मलबे के नीचे दब गए।इस हादसे में चार लोगों की मौत हो गई जबकि छह अन्य लोग घायल हो गए।दो घायल लोगों की हालत नाजुक बताई जा रही है।जब इस सम्बंध में पुलिस से बात हुयी तो उन्होने बताया कि सेक्टर 39 थाना क्षेत्र के सेक्टर 94 में बीपीटीपी बिल्डर्स एक हाईराइज बिल्डिंग बना रहे हैं।


रविवार सुबह करीब 10 बजे इमारत के निर्माण में लगाई गई लोहे की शटरिंग अचानक गिर गई।घटना में वहां खड़े 10 मजदूर मलबे में दब गए।मौके पर पँहुची पुलिस ने शटरिंग के नीचे दबे हुए 10 मजदूरों अशोक, विजयपाल, महेश, अजय, शादाब, नौशाद, करण, नसरुल, राम जय कुमार और चक्रधारी को बाहर निकाला।इन सभी को पास ही के निजी अस्पतालों में ले जाया गया। इलाज के दौरान नौशाद, राम जय कुमार, करण और अशोक की मौत हो गई।अन्य घायलों में से दो की हालत गंभीर बनी हुई है।


पुलिस ने चारों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।आगे पुलिस ने कहा कि मामले की जांच कर रही है।इस संबंध में मृतकों के परिजनों की ओर से तहरीर मिलने पर पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी।इस घटना से आस पास कार्य करने वाले मजदूर सहमे हुये है।

Tags:    
Share it
Top