Top
Begin typing your search...

धोखाधडी करने वाले पाँच अभियुक्त को थाना नाॅलेज पार्क पुलिस ने किया गिरफ्तार

धोखाधडी करने वाले पाँच अभियुक्त को थाना नाॅलेज पार्क पुलिस ने किया गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

धीरेन्द्र अवाना

नोएडा। अपराध पर अंकुश लगाने वाली नोएडा पुलिस को उस वक्त एक बड़ी सफलता मिली जब धोखाधडी करने वाले पाँच अभियुक्त को थाना नाॅलेज पार्क पुलिस ने गिरफ्तार किया। ये लोग शातिर किस्म के साईबर अपराधी है।जो फर्जी लोन साईड का एड बनाकर लोन देने के लिए लालच देते थे और अपने फर्जी बैंक खातों में रजिस्टेशन के नाम पर पैसे जमा करवा लेते थे।आपको बता दे कि पुलिस आयुक्त आलोक सिंह के नेतृत्व में जिले में अपराधियों के खिलाफ निरंतर कारवाई हो रही है।

इसी क्रम में थानाध्यक्ष नालेज पार्क वरुण पंवार के कुशल नेतृत्व में पुलिस ने दिनांक 17.10.2020 को लोगों से धोखाधडी करने वाले पाँच अभियुक्त को थाना क्षेत्र के स्टोमिया तिराहे से गिरफ्तार किया।अभियुक्तों की पहचान टिंकू भाटी पुत्र महेश भाटी निवासी करौली बांगर थाना रबूपुरा गौतमबुद्धनगर,जसमेन्द्रपाल सिंह उर्फ जस्सी पुत्र चेतन प्रताप निवासी ग्राम रूदरी थाना अरनिया बुलन्दशहर,अंकित पुत्र सुमेर निवासी मियाडा जाटवास थाना खेतडी जिला झुन्झुनू राजस्थान, अंकुल पुत्र राजवीर सिंह निवासी मऊ थाना खैर जिला अलीगढ और आशीष पुत्र तरूण निवासी म0न0 1205 मौ0 विनय नगर पी0ए0सी0 के सामने थाना क्वार्सी जिला अलीगढ के रुप में हुयी।

जिनके कब्जे से दस अलग-अलग कम्पनी के एन्ड्रायड मोबाइल फोन, पांच कीपैड मोबाइल,एक लैपटॉप सैंमसंग आरवी 409 व एक लैपटॉप INSPIRON-15 DELL कम्पनी मय चार्जर,तीन एटीएम कार्ड़,एक पैन ड्राईव,1000 रुपये नगद व एक पोलो वाक्सवैगन कार बरामद किये गये।

थानाध्यक्ष वरुण पंवार ने बताया कि ये लोग शातिर किस्म के साईबर अपराधी है।जो फर्जी लोन साईड का एड बनाकर लोन देने के लिए लालच देते थे और अपने फर्जी बैंक खातों में रजिस्टेशन के नाम पर पैसे जमा करवा लेते थे।उसके बाद उस नम्बर पर बात करना बन्द कर देते है।अभियुक्तों के खिलाफ मु0अ0स0 362/2020 धारा 414,420 भादवि व 66 आईटी एक्ट के तहत थाना नालेज पार्क में अभियोग पजिंकृत है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it