Top
Begin typing your search...

डिजिटल वालेंटियर्स के जरिये स्मार्ट बनेगी पुलिस, जनता से सीधे जुड़ेगी अब नॉएडा पुलिस

एडीसीपी ने बताया कि पुलिस चाहती है कि लोगों को सहूलियतें मिले व उन्हें किसी काम के लिए थाने के चक्कर न लगाने पड़ें।

डिजिटल वालेंटियर्स के जरिये स्मार्ट बनेगी पुलिस, जनता से सीधे जुड़ेगी अब नॉएडा पुलिस
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

धीरेन्द्र अवाना

ग्रेटर नोएडा। जिलें में पुलिस कमिश्नरी प्रणाली लागू होने के बाद पुलिस महकमे में काफी परिवर्तन देखने को मिले।पहले कम्युनिटी पुलिसिंग,फिर डिजिटल पुलिसिंग और अब डिजिटल वालेंटियर्स के जरिये जनपद पुलिस को स्मार्ट बनाने की कवायद चल रही है। आम जनता के बीच अपना विश्वास बनाने और उनसे जुड़े रहने के लिए पुलिस अब डिजिटल वालेंटियर्स ग्रुप की मदद ले रही है।इसी विषय को लेकर बुधवार को थाना बीटा-2 में वालेंटियर्स ग्रुप के सदस्यों की बैठक हुई।

एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि वालेंटियर्स ग्रुप गौतमबुद्ध नगर जिले के सभी थानों में बनाए गए हैं। इनमें ऐसे लोग को जोड़े गया हैं,जो समाजहित में बेहतर कार्य करने के लिए जाने जाते हैं।वालेंटियर्स ग्रुप में डॉक्टर,वकील, गांव के प्रधान सरपंच आदि लोगों को जोड़ा गया है। अपराध पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए पुलिस भी वालेंटियर्स ग्रुप से जुड़ेगी। एडीसीपी ने बताया कि पुलिस चाहती है कि लोगों को सहूलियतें मिले व उन्हें किसी काम के लिए थाने के चक्कर न लगाने पड़ें।

रणविजय सिंह ने बताया कि यूपी कॉप एप के बारे बताकर भी लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसके माध्यम से घर बैठे ही एफआईआर दर्ज की जा सकेगी और उस शिकायत पर की गई कार्रवाई या अपडेट के बाबत भी जानकारी मिल सकेगी।उन्होंने बताया कि अब आपके फोन में ही आपका थाना है।ऐसे में किसी को थाने जाने की जरूरत ही नहीं है। अपनी शिकायत अपने फोन से कर सकते हैं और उसी से उसकी अपडेट देख सकते हैं। बुधवार को थाना बीटा-दो में शहर के लोगों के साथ ऑल इंटरग्रुप के साथ पुलिस के अफसरों ने बैठक की और उसमें लोगों को डिजिटल वालेंटियर्स ग्रुप के बारे में जानकारी दी।

एडीसीपी ने बताया कि एक साल पहले उत्तर प्रदेश में डिजिटल वालेंटियर्स की मदद से अपराधों पर प्रभावी अंकुश लगाने की पहल की गई थी।इस व्यवस्था के तहत पुलिस हर थाने में शहर के आरडब्ल्यूए, वकील, डॉक्टर और गांव के प्रधान आदि को जोड़कर जनता की समस्याएं सुनेगी। शुरू में गौतमबुद्ध नगर में बनाए गए वालेंटियर्स ग्रुप में शामिल होने में किसी ने रुचि नहीं दिखाई,लेकिन कमिश्नर प्रणाली लागू होने के बाद वालेंटियर्स ग्रुप ने जोर पकड़ लिया है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it