Top
Begin typing your search...

नोएडा पुलिस न चैरी कॉउंटी में हुए डबल मर्डर का किया खुलासा, हत्यारे अमन ,हयात खान व सौरभ किये गिरफ्तार

खुलासा करने वाली टीम को 1 लाख का ईमान घोषित

नोएडा पुलिस न चैरी कॉउंटी में हुए डबल मर्डर का किया खुलासा, हत्यारे अमन ,हयात खान व सौरभ किये गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

ग्रेटर नोएडा के थाना बिसरख क्षेत्र के वेस्ट में स्थित चैरी कॉउंटी में बीते 3/4 नवम्बर की देर रात करीब 12 बजे हुए दोहरे हत्याकांड का खुलासा करते हुए अमन हयात व सौरभ को गिरफ्तार किया हैं। वही पुलिस इसके पास स्स घटना के समय पहने कपड़े, जूते सहित दंपति की हत्या कर मृतक से लूटी गयी चैकबूक 72000 रूपये एक फोन वीवो बरामद किए है।

थाना बिसरख क्षेत्र की चैरी काउटी सोसाइटी में निवास करने वाले दपत्ति विनय कुमार तथा श्रीमती नेहा गुप्ता की उनके फ्लैट न0- बी 2.906 मे अज्ञात बदमाश के द्वारा रात्रि में सिर पर चोट पहुंचाकर हत्या कर फ्लैट से लूटे गये 72000/- रूपये चैक बुक एक फोन वीयो तथा रक्त रंजित कपडे सहित गैलेक्सी वेगा चौराहे के पास से थाना बिसरख पुलिस द्वारा एक बदमाश को गिरफ्तार किया गया। अभियुक्त अमन हयात खान शातिर य चालाक किस्म का अपराधी है इसके द्वारा अपनी पहचान भी छुपायी गयी य अभियुक्त जहाँ पर निवास कर रहा था वहा उसके द्वारा अपनी पहचान गलत बतायी गयी।

आरोपी से पुछताछ में अमन हयात खान के द्वारा घटना में सलिसता स्वीकार करते हुये बताया गया कि वारदात को अजाम देने की योजना उसके साथी सौरभ पुत्र किशन लाल के द्वारा उकसाये जाने पर बनायी गयी थी क्योंकि प्राईसमार्ट ग्रोसरी की दुकान में काम करते समय अभियुक्त ने यह देख लिया था कि मृतक (दुकान मालिक) अपने साथ शाम को भारी धनराशि लेकर अपने मकान पर जाते है । यदि इनकी हत्या कर रूपये सामान आदि लुटकर भारी रकम मिल जाती है तो अपना कोई काम कर लिया जायेगा। लूट की वारदात को अजाम देते समय प्रतिरोध करने पर दपत्ति की हत्या की गयी। अभियुक्त अमन हयात की निशादेही पर लूटा गया माल अभियुक्त सौरभ के घर से बरामद कराया गया। अभियुक्त सौरभ द्वारा घटना के बाद अभियुक्त अमन हयात खान को रूकवाने व भगाने में मदद की गयी थी।

हरीश चंदर डीसीपी सेंट्रल ने बताया कि इसमे दूसरा एक एंगल ये भी है कि सौरभ की नाबालिक बेटी से अमन हयात के संबंध थे और ये बात सौरभ को भी पता था इसलिए सौरभ चाहता था कि वो अमन हयात इस घटना को अंजाम दे और उससे आये रुपए से इन दोनों का काम चल सके। इसी को लेकर अमन हयात खान का कहना है कि उसे रुपए की जरूरत थी जिसको लेकर अमन ने इस घटना को अंजाम दिया। साथ ही अमन हयात अपनी पहचान छुपा रहा था। और सिर्फ अपना नाम अमन बता रहा था। अमन हयात खान ग्राम दरियापुर थाना संग्रामपुर जिला मोतीहारी बिहार का मूल।निवासी है जबकि यहाँ सी 1702 फ्रेंच अपार्टमेंट बिसरख में रह रहा था। वही अमन हयात बीसीए की पढ़ाई कर रहा है और इसकी उम्र करीब 19 बर्ष है।

ललित पंडित
Next Story
Share it