Top
Begin typing your search...

नोएडा: लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर फिर हुआ हमला,दंबगों ने की पत्रकार से मारपीट

दबंगों ने पत्रकार को रिपोर्टिंग करने से रोका और कर दी पिटाई

नोएडा: लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर फिर हुआ हमला,दंबगों ने की पत्रकार से मारपीट
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा।नोएडा शहर की गिनती हाइटेक शहरों में की जाती है व प्रदेश सरकार द्वारा शहर की सुरक्षा को दुरुसत करने के लिए जिले में कमिश्नर सिस्टम लागू कर चुकी है।

पर ऐसा प्रतीत होता है कि फिर भी कही न कही कुछ कमी रह गयी है।आम जनता की आवाज बन जनता को सच से परिचित कराने वाले लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर आए दिन हमले बढ़ते ही जा रहे है।ऐसा लगता है मानो वो पत्रकार न होकर सभी का दुश्मन हो गया हो।फिर भी समाज को आइना दिखाने का काम पत्रकार बड़ी ही शिद्दत के साथ कर रहे है।

आपको बता दे कुछ समय पूर्व हाईकोर्ट की टिप्पणी के बाद प्रदेश सरकार ने आदेश दिया था कि पत्रकारों के मामले बेहद संवदेनशील तरीके से देखे जायें।अपने आदेश पर सरकार ने ये सुनिश्चित किया कि पत्रकारों से अभद्रता करने वालों पर 50,000 रुपये का जुर्माना लगेगा एवं उनसे बदसलूकी करने पर होगी तीन साल की जेल।साथ ही साथ ये भी कहा कि पत्रकार को धमकाने वाले को 24 घंटे के अंदर जेल भेज दिया जाएगा।लेकिन फिर भी आपराधिक

किस्म के लोग सरकार के इन आदेशों को ढ़ेगा दिखाते हुये नजर आते है।नतीजन आये दिन पत्रकार गोरखधंधा करने वालों का शिकार हो रहे हैं।सर्दी हो या बरसात दिन-रात खबरों का संकलन करके जन-जन तक जनता की आवाज पहुंचाने वाले पत्रकार ही सुरक्षित नही है तो जनता का क्या हाल होगा।ताजा मामला नोएडा के सैक्टर-5 स्थित हरौला गाँव का है जहा कल शाम सुबोध नामक एक व्यक्ति ने जेएमबी न्यूज समाचार पत्र के संपादक सुनील कुमार के साथ हाथापाई की व उनका मोबाइल छीन लिया।

आपको बता दे कि 15 अगस्त को गांव में सुबोध के मकान का छ्ज्जा गिर गया था।जिसमें चार बच्चे जिनकी उम्र तीन,पांच,आठ और चौदह वर्ष की थी गंभीर रुप से घायल हो गये थे।तीन वर्षीय बच्चे के करीब 25-30 टांके आये थे।पुलिस आने से पहले ही मकान मालिक ने मामले को रफा दफा कर दिया।मामला मीड़िया में आने के बाद सुबोध ने पत्रकार के ऊपर आरोप लगाया कि मीड़िया को उसने ही बुलाया है।

इसी द्वेश भावना को मन में रख कर सुबोध ने मौका देखकर दंबगई दिखाते कल पत्रकार के साथ मारपीट की और कपड़े तक फाड़ डाले।और तो और पत्रकार का फोन भी छीन लिया।जिसकी सूचना पत्रकार द्वारा तुरंत ही पुलिस को दे दी गयी थी।पुलिस ने मामले की गंभीरता को दिखाते हुये मामला दर्ज करके जांच शुरु कर दी है।मामला पुलिस के संज्ञान में आने के बाद से ही आरोपी फरार है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it