Top
Begin typing your search...

ठगी करने वाले शातिर अभियुक्त को पुलिस ने किया गिरफ्तार, इस तरह काम को देता था अंजाम

ठगी करने वाले शातिर अभियुक्त को पुलिस ने किया गिरफ्तार, इस तरह काम को देता था अंजाम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

(धीरेन्द्र अवाना)

नोएडा।अपराध पर निरंतर अंकुश लगाने वाली पुलिस ने एक ऐसे शातिर अपराधी को गिरफ्तार किया जो लोगों से ठगी करके पैसे लेता था।आपको ज्ञात होगा कि एसएसपी वैभव कृृष्ण के आदेश पर अपराधियों के खिलाफ हो रही है कारवाई। इसी क्रम में थाना साइट-5 के प्रभारी प्रभात दीक्षित के नेतृत्व में उ0नि0 मुकेश कुमार पुलिस द्वारा परी चौक के पास से एक अभियुक्त अभिमन्यू शर्मा पुत्र हरजिन्द्र शर्मा निवासी एनआईटी फरीदाबाद को गिरफ्तार किया गया है।

आपको बता दे कि अभियुक्त लोगों को भ्रमित करके ठगी करता था।अभियुक्त उन लोगों को निशाना बनाता था जिनके परिवार के सदस्य गुम या लापता हो गये है।ऐसे लोगों और पुलिस के द्बारा सार्वजनिक स्थानों पर गुमशुदा लोगों के पोस्टर / पम्पलेट आदि द्वारा लगाये गये है। अभियुक्त उन पम्पलेट पर अंकित परिजनों के मोबाइल नम्बरों पर फोन करके उन्हें गुमराह करते हुये कहता था कि गुमशुदा व्यक्ति उसके पास है इसके एवज में परिजनों से पैसों की मांग करता था। पैसा ना देने पर गुमशुदा व्यक्ति को मारने अथवा क्षति पहुँचाने की भी धमकी देता था।

पुलिस ने बताया कि दिनांक 30/11/2019 को थाना साइट-5 में मोहर सिंह पुत्र खेमचन्द मूल निवासी शिकारपुर बुलन्दशहर ने अपने पुत्र राहुल उम्र करीब 24 वर्ष (जो कि मानसिक रूप से कुछ विक्षिप्त है ) के दिनांक 12/11/2019 को घर से कही चले जाने के सम्बन्ध में गुमशुदगी दर्ज करायी गयी थी।जिसकी तलाश थाना साइट-5 पुलिस द्वारा तत्परता से की जा रही थी

हांलाकि 02/01/2020 को वादी मोहर सिंह के मोबाइल पर अभियुक्त द्वारा फोन किया गया व कहा गया कि उनका लड़का राहुल उसके कब्जे में है और बेटे की सलामती चाहते हो तो अपने PAYTM अकाउंट में 20 हजार रुपए डालने के लिए कहा ना डालने पर उनके राहुल के हाथ पैर काट देगा तथा किडनी निकालकर बेचने की धमकी दी। आगे अभियुक्त ने बताया कि मै ऐसा पहले कई बार कर चुका है। वादी ने घबरा कर अभियुक्त के PAYTM अकाउंट में 5000/- रूपये को डाल दिए परंतु अभियुक्त ने वादी को उनका पुत्र फिर भी नहीं दिया तथा और पैसों की मांग करने लगा।

मामला सदिंग्ध दिखने पर वादी ने दिनांक 03/01/2020 को इस सम्बन्ध में तहरीर थाने पर दी जिसके आधार पर मुकदमा पंजीकृत किया गया तथा त्वरित कार्यवाही करते हुए अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया गया । गिरफ्तार अभियुक्त से पूछताछ पर उसने स्वीकार किया कि उसके द्वारा पूर्व में करीब 20 से 25 बार इस प्रकार का कार्य किया गया इनमें से कुछ लोगों द्वारा अभियुक्त के PAYTM अकाउंट में पैसे भी भेजे गये।पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

Next Story
Share it