Top
Begin typing your search...

अपराधियों पर शिकंजा कसने के लिए पुलिस आयुक्त आलोक सिंह का 'ऑपरेशन प्रहार'

अपराधियों पर शिकंजा कसने के लिए पुलिस आयुक्त आलोक सिंह का  ऑपरेशन प्रहार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

धीरेन्द्र अवाना

नोएडा।अपराधियों पर शिकंजा कसने व अपराध पर अंकुश लगाने के लिए गौतमबुद्ध नगर के पुलिस आयुक्त आलोक सिंह ने 'ऑपरेशन प्रहार' नाम से अभियान शुरु किया है।जिसके तहत शनिवार को नोएडा-गाजियाबाद और दिल्ली पुलिस ने एकसाथ मिलकर खोड़ा में बड़े स्तर पर सर्च ऑपरेशन चलाया।अभियान में नोएडा,गाजियाबाद और दिल्ली पुलिस के करीब 120 जवान व वरिष्ट पुलिस आधिकारी मौजूद रहे।यह अभियान शानिवार शाम 4 से 6 बजे तक चला जिसमें पुलिस ने खोड़ा के 35 घरों में अभियान चलाकर लूटपाट समेत अन्य आपराधिक घटनाओं में शामिल खोड़ा निवासी 27 अपराधियों को हिरासत में लिया।हिरासत में लिए गए संदिग्धों से संयुक्त पूछताछ कर डोजियर बनाए जा रहे हैं।

अपर पुलिस आयुक्त रणविजय सिंह ने बताया कि पुलिस आयुक्त आलोक सिंह के निर्देशन में अपराधियों पर शिकंजा कसने के लिए ऑपरेशन प्रहार चलाया गया था। कमिश्नरेट पुलिस की ओर से एसीपी रजनीश वर्मा को नोडल अधिकारी बनाया गया।उनके साथ एसीपी प्रथम अंकिता शर्मा व सेक्टर-58, सेक्टर-24, सेक्टर-49 और एक्सप्रेसवे थाने की पुलिस रही।नोएडा, गाजियाबाद और दिल्ली पुलिस के करीब 120 पुलिसकर्मीयों ने खोड़ा में सर्च अभियान चलाया।


इसमें दिल्ली पुलिस के 30, गाजियाबाद पुलिस के 30 व नोएडा कमिश्नरेट के 60 पुलिसकर्मी मौजूद रहे। एसीपी रजनीश वर्मा ने बताया कि नोएडा, गाजियाबाद और दिल्ली में अपराध करने वाले 50 अपराधियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जानी थी,लेकिन पहली बार में 27 ही हाथ आए हैं। इन सभी के डोजियर बनाए जा रहे हैं। ताकि भविष्य में आपराधिक घटना होने पर इनको हिरासत में लेकर पूछताछ की सके।आपको बता दे कि खोड़ा में ऐसे असामाजिक तत्व का बसेरा हैं,जो यहा रह कर दिल्ली,नोएडा और गाजियाबाद में अपराध करते थे।इनके खिलाफ तीनों शहरों के थानों में रिपोर्ट दर्ज हैं।इनमें लूट और चोरी के अधिक आरोपी हैं।डोजियर बनाकर इनकी पहचान कर ली जाएगी।इससे अपराध के तुरंत बाद इनके घरों पर दबिश दी जाएगी और इनकी लोकेशन भी जांची जाएगी।पुलिस अधिकारियों को उम्मीद है कि ऑपरेशन प्रहार से आपराधिक घटनाओं में कमी आएगी।इस तरह का अभियान कमिश्नरेट में भी चलाया जाएगा। जिन बदमाशों का डोजियर नहीं बना है,उनका इतिहास खंगाल कर पहचान की जाएगी। ताकि,छोटी से बड़ी वारदात को जल्द से जल्द पर्दाफाश किया जा सके।


Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it