Top
Begin typing your search...

लोगों से धोखाधड़ी करने वाले एक अंतरराज्यीय गिरोह का पुलिस ने किया भंडाफोड़

लोगों से धोखाधड़ी करने वाले एक अंतरराज्यीय गिरोह का पुलिस ने किया  भंडाफोड़
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नोएडा।अपराध पर अंकुश लगाने वाली नोएडा पुलिस को उस वक्त एक बड़ी सफलता मिली जब थाना सैक्टर-58 पुलिस ने लोगों से धोखाधड़ी करने वाले एक अंतरराज्यीय गिरोह के सात लोगों को गिरफ्तार किया। आपको बता दे कि पुलिस आयुक्त के निर्देश पर जिले में अपराधियों के खिलाफ निरंतर कारवाई हो रही है।

इसी क्रम में अपर पुलिस आयुक्त(कानून व्यवस्था)लव कुमार के कुशल नेतृत्व में थानाध्यक्ष थाना सेक्टर-58 अनिल राजपूत ने अपनी टीम के साथ मिलकर एटीएम कार्ड बदलकर करीब एक हजार से अधिक लोगों से धोखाधड़ी करने वाले एक अंतरराज्यीय गिरोह का भंडाफोड़ करने का दावा करते हुए इसके सात सदस्यों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों के पास से 4 लाख दो हजार रुपये नगद, विभिन्न बैंकों के 107 एटीएम कार्ड और एक कार बरामद की गई है।पुलिस के अनुसार आरोपी एटीएम बूथ पर मदद देने के नाम पर आटोमेटेड टेलर मशीन (एटीएम) कार्ड बदलकर फर्जीवाड़े को अंजाम देते थे।

अपर पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) लव कुमार ने बताया कि थाना सेक्टर-58 पुलिस ने बृहस्पतिवार दोपहर को सेक्टर-62 के पास से एटीएम कार्ड बदलकर धोखाधडी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के सात बदमाशों को पकड़ा। उन्होंने बताया कि इन आरोपियों की पहचान शाहीनबाग, दिल्ली निवासी राकेश उर्फ अब्बास, पटपडग़ंज, दिल्ली निवासी चंदन, लोनी निवासी मोहित, कौशांबी गाजियाबाद निवासी राजीव, हरेंद्र, बुलंदशहर निवासी सौरभ और विजयनगर निवासी मनीष के रूप में हुई है।

उन्होंने बताया, ''ये आरोपी खराब पड़े एटीएम के पास खड़े होते थे और जब ग्राहक का पैसा नहीं निकलता था तब ये मदद के बहाने झांसे में लेकर उनका एटीएम कार्ड बदल लेते थे।इसके बाद एटीएम कार्ड से पैसे निकाल लेते थे।इन लोगों ने अब तक एक हजार से अधिक लोगों के साथ दिल्ली, एनसीआर, पश्चिमी यूपी, हरियाणा में इस तरह की धोखाधड़ी की है। राकेश उर्फ अब्बास के खिलाफ दिल्ली एनसीआर में करीब 20 मुकदमें,मोहित के खिलाफ करीब 11,चंदन,राजीव,हरेंद्र, मनीष और सौरभ के खिलाफ करीब 8 मामले दर्ज है।

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it