Top
Begin typing your search...

कोतवाली दादरी क्षेत्र में हुई लूट की घटना का पुलिस ने किया अनावरण

कोतवाली दादरी क्षेत्र में हुई लूट की घटना का पुलिस ने किया अनावरण
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

(धीरेन्द्र अवाना)

नोएडा।अपराध पर अंकुश लगाने का निरंतर प्रयास करने वाली पुलिस को एक बड़ी सफलता जब मिली जब दादरी कोतवाली पुलिस ने दो शातिर अपराधियों को गिरफ्तार किया जो नोएडा व ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में ए.टी.एम पर आने वाले बुजुर्ग या कम जानकारी वाला व्यक्ति को उसकी सहायता करने के बहाने उनका ए.टी.एम पीन चुपके से देखकर या छीन कर ए.टी.एम धारक के खाते से पैसे निकाल लेते थे व धोखाधडी कर आनलाईन शापिंग कर लेते थे।

आपको बता दे कि पुलिस उपायुक्त के निर्देश पर जिले के सभी थाना क्षेत्रों में अपराधियों पर लगाम लगाई जा रही है।इसी क्रम में दादरी कोतवाली प्रभारी दिनेश सिंह के नेतृत्व में उ.नि.अनुज कुमार ने अपनी टीम अंकित भडाना,सागर और निखिल कुमार के साथ एक दिन पहले कोतवाली दादरी क्षेत्र में हुई ए.टी.एम कार्ड व पैसे लूटने की घटना का सफल अनावरण करते हुये दिनांक 1.2.2020 को चैकिंग के दौरान बढपुरी पुलिया के पास से अभियुक्त रोहित पुत्र सतवीर निवासी ग्राम बागू बागपत और रवि शंकर चौबे उर्फ सोनू चौबे पुत्र दीनदयाल चौबे निवासी ग्राम नवानगर बलिया को गिरफ्तार किया गया।

अभियुक्तगणों के कब्जे से 6 ए.टी.एम कार्ड व दो आधार कार्ड तथा घटनाओ से सम्बन्धित 4500/- रूपये नकद व एक गाडी होण्डा सिटी बरामद की गयी है तथा अभियुक्त रवि उपरोक्त से एक अवैध तमंचा 315 बोर,एक कारतूस जिन्दा व अभियुक्त रोहित के कब्जे से एक अदद तमंचा 315 बोर मय दो अदद जिन्दा कारतूस बरामद किया गया है।अभियुक्तगण को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है ।अभियुक्तों द्वारा करीब 3-4 महीने पहले एक गाडी ओएलएक्स पर से 1,04,000/- रूपये की नकद खरीदी गयी थी जिसकी जाँच की जा रही है तथा अभियुक्तगण के बैंक खातो को बैंक को रिपोर्ट भेज कर सीज किया जा रहा है ताकी अभियुक्तगण के बैंक खातो की जाँच की जा सके ।

अभियुक्त शातिर अपराधी है।पुछताछ में पता चला कि अभियुक्तगण नोएडा / ग्रेटर नोएडा क्षेत्र में ए.टी.एम पर घात लगाकर खडे हो जाते थे और जो भी बुजुर्ग या कम जानकारी वाला व्यक्ति ए.टी.एम में पैसे निकालने आता था।तो उसकी सहायता करने के बहाने या पैसे निकालते वक्त उनका ए.टी.एम पीन चुपके से देखकर उनका ए.टी.एम बदलकर या छीन कर ए.टी.एम धारक के खाते से पैसे निकाल लेते थे व धोखाधडी कर आनलाईन शापिंग कर लेते थे । जिससे खाता धारको को धन की बहुत हानि हो रही थी ।

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it