Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > नोएडा > नोएडा कमिश्नरी में लूट की फर्जी घटना का खुलासा, बीमा की रकम वसूलने के चक्कर में फंस गये जीजा साले

नोएडा कमिश्नरी में लूट की फर्जी घटना का खुलासा, बीमा की रकम वसूलने के चक्कर में फंस गये जीजा साले

 Shiv Kumar Mishra |  18 March 2020 8:34 AM GMT  |  नोएडा

नोएडा कमिश्नरी में लूट की फर्जी घटना का खुलासा, बीमा की रकम वसूलने के चक्कर में फंस गये जीजा साले
x

नोएडा: 14.मार्च .2020 की रात्रि मे रिषभ अरोडा मूल निवासी अमृतसर पंजाब के द्वारा थाना फेस 2 पर सूचना दी गयी थी कि वह पारस टेरा सै0 137 सोसायटी नोएडा मे किराये पर रहता है. रात्रि मे दिल्ली से अपने निवास पर अपने जीजा मुकेश अरोडा निवासी दिल्ली की बीएमडब्ल्यू कार संख्या एचपी -12- एल- 1232 से पहुँचा था. पुनः घूमने के लिये गाडी लेकर बाहर निकल गया था , आगे जाकर गाडी को स्टार्ट हालत मे छोडकर लघु शंका करने लगा. इसी दौरान बाइक सवार तीन अज्ञात बदमाशो के द्वारा उसको पिस्टल लगाकर उसकी गाडी लूट ली गयी. इस सम्बन्ध मे थाना फेस 2 पर केस दर्ज कर पुलिस छानबीन में जुट गई.

डीसीपी सेंट्रल नोएडा हरीश चन्दर ने बताया कि रिषभ अरोडा के द्वारा जिस स्थान पर घटना होना बताया गया था. उस स्थान पर इस प्रकार की घटना होने का कोई प्रमाण विवेचना के दौरान नही पाया गया. वादी द्वारा बताया गया था कि उसका जीजा मुकेश अरोडा मुम्बई गया हुआ है. विवेचना के दौरान घटना वाली रात्रि मे मुकेश अरोडा की उपस्थिति नोएडा मे पायी गयी. इस आधार पर रिषभ अरोडा से सख्ती से पूछताछ की गयी तो उसने बताया कि उसके साथ लूट की कोई घटना नही हुयी थी बल्कि उसके जीजा मुकेश अरोडा व उनके दोस्त सुमित गहलौत्रा उस रात्रि मे दूसरी स्कोडा कार न0 एचआर 26 बीक्यू 6992 से आये थे और मैने बीएमडब्ल्यू कार संख्या एचपी-12- एल 1232 अपने जीजा को दे दी थी.

डीसीपी ने बताया कि रिषभ अरोडा से पूछताछ के आधार पर सैनिक फार्म नई दिल्ली के पास से घटना मे प्रयुक्त स्कोडा कार न0 एचआर 26 बीक्यू 6992 के साथ मुकेश अरोडा व सुमित गहलौत्रा को पकडा गया तथा उनकी निशानदेही पर आम्रपाली जोडिक सै0 120 नोएडा से बी0एम0डब्ल्यू0 कार संख्या एचपी -12- एल- 1232 को बरामद किया गया .अभि0गण के द्वारा इस गाडी पर एचआर 26 टीएमपी-2019 23905 नम्बर की फर्जी नम्बर प्लेट लगा रखी थी. पूछताछ मे अभि0गण के द्वारा बताया गया कि इस गाडी की किश्त अदा नही कर पा रहे थे तथा गाडी के उपर 45 लाख रुपये का लोन बकाया था. इसी कारण हम लोगो ने फाइनेन्स व इन्श्योरेन्स कम्पनी के साथ गबन करने के उद्देश्य से योजना के तहत षडयंत्र रचकर लूट की फर्जी घटना की रिपोर्ट दर्ज करायी थी. लूट की घटना के वादी रिषभ अरोडा , इसके जीजा मुकेश अरोडा व जीजा के दोस्त सुमित गहलौत्रा के विरुध केस दर्ज कर अपराध करना पाये जाने के कारण इन्हे गिरफ्तार कर जेल भेजा जा रहा है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it