Top
Begin typing your search...

प्राधिकरण ने 7800 सौ वर्ग मीटर जमीन मुक्त करायी,कीमत लगभग 1 अरब, 24 करोड़ रुपए

प्राधिकरण ने 7800 सौ वर्ग मीटर जमीन मुक्त करायी,कीमत लगभग 1 अरब, 24 करोड़ रुपए
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

(धीरेन्द्र अवाना)

नोएडा।अतिक्रमण के खिलाफ कारवाई करते हुये नोएडा विकास प्राधिकरण ने सैक्टर 50 के एफ ब्लॉक की 7800 सौ वर्ग मीटर जमीन को मुक्त करा लिया है।आपको बता दे कि इस जमीन पर झुग्गियां एवं हाई राइज बिल्डिंग का मेटेरियल डालकर लंबे समय से कब्जा किया हुआ था।इसकी शिकायत सैक्टर वासियों ने प्राधिकरण से की थी।ओएसडी इंदु प्रकाश सिंह ने तुरंत कारवाई करते हुये जमीन को खाली करा दिया।इस जमीन की कीमत लगभग एक अरब, 24 करोड़ रुपए बताई गई है।

उक्त जमीन पर एम बीएनस टीवरटन सेल्स ऑफिस बनाने वाले लगभग 100 झुग्गी बनाकर रह रहे थे।पास में ही हाई राइज बिल्डिंग का मेटेरियल भी उसी में काफी लंबे समय से डाल रहे थे।उक्त सेल्स ऑफिस को बनाने वाले मजदूर भी करीब वहां लगभग 100 झुग्गी बनाकर रह रहे थे।जबकि यह नोएडा प्राधिकरण की अर्जित जमीन है।इस पर सेक्टर 50 के निवासियों ने प्राधिकरण में कई बार शिकायत की थी, लेकिन कब्जे को काफी समय से अधिकारी व कर्मचारी भी नहीं हटवा पा रहे थे।

नोएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी ने यह कार्य ओएसडी इंदु प्रकाश सिंह को सौंपा।उन्होंने शुक्रवार को वहां पहुंचकर हाई राइज बिल्डिंग बनाने वाले सेल्स ऑफिस के मालिक को बुलाकर तुरंत खाली कराने को कहा और वहां से तुरंत कब्जा प्राप्त जमीन को खाली करा दिया गया। उक्त जमीन पर फैकल्टी एवं पार्किंग बनाई जाएगी।

कब्जा हटने के बाद जब सेक्टर 50 के निवासियों से पूछा गया तो उन्होंने ओएसडी का आभार प्रकट किया और कहा कि नोएडा के ओएसडी लगनशील अधिकारी हैं। वे लगन और मेहनत से सुबह से लेकर देर रात तक कार्य में जुटे रहते हैं।सैक्टर वासियों का कहना था कि ऐसी अधिकारी प्राधिकरण में कम ही देखने को मिलते हैं। सैक्टर वासियों का कहना था कि वह इस अतिक्रमण को काफी समय से हटाने की मांग कर रहे थे। लंबे समय के बाद यहां से अतिक्रमण हटाया गया।

Sujeet Kumar Gupta
Next Story
Share it