Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > नोएडा > आज यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण की 67वीं बोर्ड बैठक में कई बड़े व प्रमुख निर्णय लिए गए

आज यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण की 67वीं बोर्ड बैठक में कई बड़े व प्रमुख निर्णय लिए गए

प्राधिकरण के सीईओ डॉ.अरुण वीर सिंह ने आज बताया कि दिनांक 01.04.2018 से 31.01.2019 तक के वास्तविक के सापेक्ष 01.04.2019 से 31.01.2020 तक का वास्तविक तथा वित्तीय वर्ष 2019-20 हेतु पुनरीक्षित बजट के सापेक्ष वित्तीय वर्ष 2020-21 के प्रस्तावित बजट को प्रस्तुत किया गया है।

 Sujeet Kumar Gupta |  1 March 2020 9:47 AM GMT  |  नई दिल्ली

आज यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण की 67वीं बोर्ड बैठक में कई बड़े व प्रमुख निर्णय लिए गए
x

नोएडा। आज यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण की 67वीं बोर्ड बैठक में कई बड़े व प्रमुख निर्णय लिए गए है। प्राधिकरण के सीईओ डॉ.अरुण वीर सिंह ने आज बताया कि दिनांक 01.04.2018 से 31.01.2019 तक के वास्तविक के सापेक्ष 01.04.2019 से 31.01.2020 तक का वास्तविक तथा वित्तीय वर्ष 2019-20 हेतु पुनरीक्षित बजट के सापेक्ष वित्तीय वर्ष 2020-21 के प्रस्तावित बजट को प्रस्तुत किया गया है। उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में दिनांक 31.01.2020 तक बैकों से रू0 400.00 करोड का ऋण प्राप्त किया गया जबकि रू0 504.00 करोड का ऋण वापस किया गया।

वर्ष 2020-21 के बजट में रू0 3891.88 करोड की प्राप्तियों का लक्ष्य रखा गया है। इसका मुख्य कारण,औद्योगिक, आवासीय,मिक्स लैण्ड यूज, संस्थागत,व्यवसायिक व अन्य सम्पत्तियों के विक्रय से प्राप्तियाॅ व अन्य राजस्व मद में होने वाले प्राप्तियों से है। इस वित्तीय वर्ष में रू0 1451.00करोड ऋण एवं अग्रिम के रूप में लेने का लक्ष्य रखा गया है, जिसमें वित्तीय संस्थानों से रू0 1350.00 करोड का ऋण लिया जाना सम्मिलित है। राजस्व प्राप्तियोों में वित्तीय वर्ष 2020-21 हेतु कुल राजस्व प्राप्तियों की मद में रू0 2440.86 करोड का लक्ष्य रखा गया है।वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट में रू0 2119.62करोड का लक्ष्य परिसम्पत्तियों की किस्तों व विक्रय से रखा गया।

उल्लेखनीय है कि जेवर एयरपोर्ट के कार्य की प्रगति तथा ईस्टर्न पेरिफेरल हेतु इंटरचेज बनने की प्रगति के कारण यमुना प्राधिकरण की परिसम्पत्तियों की मांग में बढोत्तरी हो रही है। साथ ही अन्य राजस्व प्राप्तियों में ब्याज, परिसम्पत्तियों पर देय शुल्क, लीज रेन्ट व प्रपत्रों की ब्रिकी मद में प्राप्तियाॅ शामिल है, जिसमें वित्तीय वर्ष 2020-21 में रू0 321.24करोड का लक्ष्य रखा गया है।वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट में रू0 3889.48 करोड के भुगतान का लक्ष्य है। इसका मुख्य कारण भू-अधिग्रहण, विकास कार्यो, जेवर एयरपोर्ट में अंशदान व मल्टी मोडल कनेक्टिविटी कार्यो के निष्पादन करने के दृष्टिगत है। वित्तीय वर्ष 2020-21 में रू0 988.58करोड की राशि ऋण एवं अग्रिम मद में भुगतान करने का लक्ष्य रखा गया है, जिसमें विभिन्न बैंकों के ऋण के सापेक्ष रू0 587.58 करोड तथा नौएडा प्राधिकरण के ऋण के सापेक्ष रू0 300.00 करोड के ऋण के भुगतान सम्मिलित है।

वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट में राजस्व भुगतान हेतु रू0 2168.50करोड के भुगतान का लक्ष्य रखा गया है। अन्य राजस्व भुगतानों मे प्रशासनिक व्यय, कार्यालय व्यय, मरम्मत एण्ड अनुरक्षण व्यय, ऋणों पर ब्याज व मार्केटिंग एवं विज्ञापन मद शामिल है, जिसमें वित्तीय वर्ष 2020-21 में रू0 212.73करोड के भुगतान का लक्ष्य रखा गया है। वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट में विकास एवं निमार्ण कार्य पर कुल रू0 1000.89 करोड के भुगतान का लक्ष्य रखा है। इसमे प्राधिकरण क्षेत्र के विभिन्न सैक्टरों मुख्यतः 18,20,29,32 व 33 के विकास कार्य, आवासीय भवनों के निर्माण कार्य तथा यमुना एक्सप्रेसवे से जेवर एयरपोर्ट को सडक द्वारा जोडने का निर्माण विशेष रूप से लक्षित है।वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट में जेवर एयरपोर्ट हेतु पूंजीगत अंशदान के मद में रू0 430.00 करोड का लक्ष्य रखा गया है।

वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट में मेट्रो कनेक्टिविटी हेतु रू0 300.00 करोड का लक्ष्य रखा गया है। प्राधिकरण की धनराषि के विनियोेजन सम्बंधित नीति को बोर्ड द्वारा अनुमोदित किया गया। यह नीति वित्त मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा जारी शासनादेश दिनांक 02.03.2015 के क्रम में तैयार की गई है, जिसके अनुसार कम से कम 60 प्रतिषत धनराषि सरकारी बैंकों में ही जमा कराई जायेगी तथा अवषेश 40 प्रतिषत धनराषि निजी बैंको में जमा करवाई जा सकती है।यमुना एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण द्वारा अपने लेखों का रखरखाव रोकड़ आधार पर रखा जा रहा था। उत्तर प्रदेश शासन एवं ऑडिट टीम द्वारा निर्देषित किया गया कि प्राधिकरण द्वारा अपने लेखों का रखरखाव उपार्जन पर तैयार किया जाए जिससे प्राधिकरण की वास्तविक वित्तीय स्थिति परिलक्षित हो सके।

उक्त के क्रम में प्राधिकरण द्वारा वित्तीय वर्ष 2005-06, 2006-07, 2007-08तक के लेखों को उपार्जन आधार पर अंतिम रूप देते हुए तुलन पत्र एवं आय-व्ययक तैयार किया गया है। एक मुश्त समाधान पाॅलिसी योजना प्राधिकरण में योजना लागू की जायेगी। यमुना एक्सपे्रसवे औ0 वि0 प्राधिकरण द्वारा नौएडा इन्टरनेशनल ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट की क्षेत्रीय कनेक्टिविटी को बेहतर करने हेतु मै0 राइट्स लि0 द्वारा प्रस्तुत मल्टी माॅडल अर्बन ट्रान्जिट की फिजिविल्टी स्टडा पर भी विचार विमर्ष किया गया तथा इस क्षेत्र में बेहतर केनेस्टिविटी हेतु विकल्प तलाषने पर जोर दिया गया।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it