Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > नोएडा > नोएडा में दो सगे भाईयों की आपसी रंजिश में हुई गोलीबारी में मौत

नोएडा में दो सगे भाईयों की आपसी रंजिश में हुई गोलीबारी में मौत

 Special Coverage News |  30 Nov 2019 8:28 AM GMT  |  नोएडा

नोएडा में दो सगे भाईयों की आपसी रंजिश में हुई गोलीबारी में मौत
x

ग्रेटर नोएडा के रबूपुरा थाना क्षेत्र के गांव रामपुर बांगर में करीब 40 दिन पुराने विवाद में शुक्रवार रात जिम से लौट रहे युवकों पर एक पक्ष के लोगों ने ताबड़तोड़ गोलियां चला दी। इसमें दो सगे भाइयों की मौत हो गई और तीन युवक घायल हो गए। दम तोड़ने वाले युवकों में एक स्टेट लेवल का बॉडी बिल्डर भी था। दोनों भाई रबूपुरा में जिम चलाते थे। घायलों में एक की हालत गंभीर बनी हुई है। वारदात से गांव में तनाव है। ऐसे में कई थानों की पुलिस तैनात कर दी गई है। पुलिस के अनुसार रामपुर बांगर निवासी गिरिराज के बेटे गजेंद्र (32) और स्टेट लेवल का बॉडी बिल्डर आकाश (23) शाम सात बजे परिवार के अन्य युवकों के साथ तीन-चार गाड़ियों में सवार होकर जिम से लौट रहे थे।

सभी युवक जैसे ही घर से लगभग ढाई सौ मीटर दूरी तक पहुंचे तो कुछ लोगों ने उन पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दीं। इसमें गजेंद्र और आकाश के अलावा जीतू, सुनील और राहुल घायल हो गए। घायलों को ग्रेटर नोएडा के कैलाश अस्पताल लाया गया जहां आकाश और गजेंद्र को मृत घोषित कर दिया गया। आकाश अविवाहित था जबकि गजेंद्र के तीन बच्चे भी हैं। वारदात में घायल जीतू को ग्रेटर नोएडा के यथार्थ अस्पताल में गंभीर हालत में भर्ती कराया गया है। सुनील और राहुल को छर्रे लगे थे उनकी हालत खतरे से बाहर है। वहीं, परिजन और ग्रामीण बड़ी संख्या में कैलाश अस्पताल में जमा हो गए और हंगामा करने लगे। दोनों पक्षों में समझौते के भी प्रयास हुए थे। पीड़ित पक्ष और आरोपी एक ही परिवार के लोग हैं।

इस कारण से ग्रामीण और अन्य लोगों ने दोनों पक्षों में कई बार समझौता कराने का भी प्रयास किया, लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। पुलिस चेत जाती तो नहीं जाती दो भाइयों की जान ग्रेटर नोएडा। दो सगे भाइयों की हत्या के बाद परिजनों और ग्रामीणों ने पुलिस पर बड़ी लापरवाही का आरोप लगाया है। आरोप है कि 40 दिन में चार बार झगड़े और हमले की घटनाएं हुईं।

इसकी शिकायत के बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इससे आरोपियों का हौसला बढ़ गया और उन्होंने शुक्रवार को वारदात अंजाम दे दी। सबसे पहले 20 अक्तूबर को दोनों पक्षों के बीच रास्ते में गाड़ी खड़ी करने के विवाद में मारपीट हुई थी। इसके बाद 25 अक्तूूबर को जिम से लौटते समय आकाश पर गोलियां चलाई गई थीं। आकाश की जांघ में गोली लगी थी। परिजनों ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कराई, लेकिन आज तक कोई गिरफ्तारी नहीं की गई। शुक्रवार सुबह गजेंद्र और आकाश के पिता घर लौट रहे थे इस दौरान दूसरे पक्ष ने रास्ते में रोककर उनसे मारपीट की थी। महिलाओं ने उन्हें बचाया था।

इस घटना की तहरीर गांव पुरा थाना पुलिस को दी गई। साथ ही, 25 तारीख को हुई घटना के मामले में भी गिरफ्तारी की मांग की। थाना पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन देकर वापस भेज दिया। एसपी देहात रणविजय सिंह ने बताया कि गांव में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीमें गठित कर दबिश दी जा रही है। जल्द आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। परिजन की तहरीर के आधार पर केस दर्ज किया जाएगा।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it