Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > नोएडा > जब रक्षक ही बन जाये भक्षक तो जनता क्या करे

जब रक्षक ही बन जाये भक्षक तो जनता क्या करे

 Special Coverage News |  2018-11-14T13:40:32+05:30  |  नोएडा

जब रक्षक ही बन जाये भक्षक तो जनता क्या करे

धीरेन्द्र अवाना

नोएडा। नोएडा शहर एक ऐसा शहर है जिसकी गिनती हाइटेक शहरों में की जाती है। यहा प्रदेश सरकार के द्वारा हर मुमकिन सुविधा उपलब्ध कराने का दावा किया जाता है पर हकीकत कुछ और ही है। इन सुविधाओं के लिए आम आदमी को दर दर की ठोकर खानी पड़ती है। फिर भी पात्र इससे अछूते रह जाते है। बात करे पुलिस विभाग की तो यहा आम आदमी जाने से कतराता है इसको पुलिस का खौफ कहे या उनके द्वारा की गई जातिया। पुलिस रोज नये कारनामे करके अब खाकी को बदनाम कर रही है।

मामला नोएडा पुलिस का है जिसने खाकी को शर्मशार किया है। जब रक्षक ही भक्षक बन जाएगे तो आम जनता का क्या होगा। वो अपनी सुरुक्षा के लिए किससे गुहार लगाऐगे।मामला थाना-39 क्षेत्र की सालारपुर चौकी का है। सालारपुर की रहने वाली महिला बबीता का आरोप कि कुछ दिन पूर्व गाँव में उनके पति के साथ वीरपाल नामक के एक व्यक्ति ने मारपीट की जब इसकी शिकायत पुलिस से की तो चौकी इंचार्ज विनीत कुमार ने महिला को समझौता करवाने के लिए चौकी पर बुलाया। महिला का आरोप है कि जब में चौकी पहुची तो चौकी इंचार्ज ने अंदर से दरवाजा लगा कर कहा कि मामला निमटाना है तो कमेरे साथ एक रात गुजारनी पडेगी। जब महिला ने इसका विरोध किया तो चौकी इंचार्ज ने मेरे साथ जबरदस्ती की किसी तरह महिला ने वहा से निकल कर अपनी इज्जत बचायी।

अब हम आप को बताते है कि पूरा मामला क्या है।एक महिला जिसका नाम बबीता है वो अपने पति सुनील के साथ सलारपुर गाँव में रहती है।महिला का कहना है कि दो नवंबर की शाम करीब साढ़े पांच बजे पड़ोस में रहने वाला वीरपाल ने उसके पति को मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया था।पति के सिर में 18 टांके लगे हैं।पुलिस ने शिकायत पर आरोपित के खिलाफ मामूली धाराओं में रिपोर्ट दर्ज करके चालान कर दिया और उसे जमानत मिल गई।


पुलिस की कार्रवाई से असंतुष्ट महिला चार नवंबर को कड़ी कार्रवाई के लिए चौकी इंचार्ज से विनती की।इंचार्ज ने महिला को आश्वासन दिया कि आप चौकी पर आयो आरोपी के खिलाफ सक्त कारवाई होगी। महिला का आरोप है कि चौकी इंचार्ज उसे एक कमरे में लेकर गया और उसके सामने एक रात गुजारने का प्रस्ताव रखा।यह सुनकर वह हैरान रह गई और इन्कार करके कमरे से बाहर निकलने लगी।इसके बाद इंचार्ज ने उसके साथ जबरदस्ती व छेड़छाड़ की। इस संबंध में एसएसपी डॉ. अजय पाल शर्मा का कहना है कि इस घटना के बारे में सोशल मीडिया से जानकारी मिली है। अभी तक महिला की शिकायत उनके पास नहीं आई। मामले की जांच कराई जाएगी। जांच में जो बात सामने आएगी उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

Tags:    
Share it
Top