Top
Begin typing your search...

दबंगो के प्रताड़ना से तंग ITI के छात्र ने मौत को लगाया गले, आत्महत्या के पहले लिखा मेरी मौत के जिम्मेदार है ये!

दबंगो के प्रताड़ना से तंग ITI के छात्र ने मौत को लगाया गले, आत्महत्या के पहले लिखा मेरी मौत के जिम्मेदार है ये!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

प्रतापगढ़। प्रताड़ना के चलते आईटीआई के छात्र ने फांसी के फंदे पर झूलकर आत्महत्या कर ली। छात्र के मानसिक उत्पीडन के चलते हुई मौत की जानकारी मिलते ही पुलिस प्रशासन मे हडकंप मच गया। आननफानन मे सीओ तथा कोतवाल भारी फोर्स के साथ घटनास्थल पर पहंुचे और घटना के कारणों की छानबीन को लेकर घंटो मशक्कत करते दिखे।

कोतवाली लालगंज के बेलहा गांव मे शनिवार को जोखू लाल शर्मा उर्फ शंकर के बीस वर्षीय पुत्र धीरेन्द्र उर्फ धीरू ने मकान की दूसरी मंजिल पर बने कमरे मे फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना को लेकर मृतक के भाई धर्मेन्द्र शर्मा की तहरीर पर तीन आरोपियो के खिलाफ उत्पीड़न के चलते आत्महत्या का पुलिस ने केस दर्ज किया है।

धीरेन्द्र इस समय प्रतापगढ़ मुख्यालय पर आईटीआई दूसरे वर्ष की पढाई कर रहा था। इधर वह घर आया हुआ था। शनिवार को धीरेन्द्र दूसरी मंजिल के एक कमरे मे गया और कमरा बंद कर फंदे से झूल गया। दोपहर उसकी मां गुडडी खेत से लौटी तो धीरू को खाना देने छत पर गई। मां के आवाज देने पर भी कमरे के अंदर से कोई आवाज नही आयी। इसके बाद मां ने कमरे को खटखटाया तो भी अंदर से कोई आवाज न मिलने पर वह अनहोनी की आशंका मे कांप उठी। मृतक की मां ने कमरे मे लगे रोशनदान से झांका तो अंदर का नजारा देख उसकी चीख निकल गई। गुडडी का चीत्कार सुन परिजन भी छत पर पहुंच गये। परिवार के लोगों की चीखपुकार पर गांव के लोग भी बडी तादात मे जोखू शर्मा के घर जुट गये।

आत्महत्या से पूर्व मृतक छात्र के पास से एक सुसाइड नोट भी पुलिस को मिला। सुसाइड नोट मे मृतक छात्र ने आत्महत्या के लिए गांव के ही प्रदीप सिंह पुत्र हीरा सिंह तथा उसके साले व भीषम सिंह को लगातार प्रताड़ना के चलते जबाबदेह बताया है। सुसाइड नोट मे मृतक छात्र ने पिता के नाम भावनात्मक पत्र मे कहा है कि वह कायर नही है किंतु आरोपितो के उत्पीड़न के चलते वह आत्महत्या कर रहा है, …. सॉरी पापा।

उत्पीडन से हुई आईटीआई छात्र की मौत की जानकारी होते ही सीओ जगमोहन तथा कोतवाल संजय यादव व दरोगा सुनील राय भारी फोर्स के साथ मृतक के घर पहुंचे। सीओ तथा कोतवाल ने सुसाइड नोट कब्जे मे लेते हुए परिजनों तथा ग्रामीणों से घटना के कारणों को लेकर घंटो पूछताछ की मशक्कत जारी रखी। इधर जवान बेटे की मौत से सदमे मे आये पिता तथा परिजनो का रो-रो कर बुराहाल देखा गया। मृतक तीन भाईयों मे सबसे छोटा था। उसके दो और बडे भाई धर्मेन्द्र तथा जीतेन्द्र का भी होनहार भाई की मौत को लेकर रोना बिलखना देख घटनास्थल पर मौजूद लोगों की आंखे भर आयी। मृतक छात्र का पिता जोखू लाल कानपुर मे कारोबारी के सिलसिले मे रहता है। वह भी इन दिनों घर आया हुआ था। वहीं मृतक छात्र का एक भाई धर्मेन्द्र पिचूरा मे क्लीनिक पर रहता है। जबकि दूसरा भाई जीतेन्द्र खेतीबारी किया करता है।

बिलखती मां गुडडी ने बताया कि उसके बेटे धीरू ने शुक्रवार की रात भी खाना नहीं खाया था। ग्रामीणों के मुताबिक धीरू शुक्रवार की शाम से कुछ ज्यादा परेशान दिख रहा था। पुलिस ने देर शाम मृतक के शव को कब्जे मे लेकर पंचनामा कराया। इसके बाद शव को पीएम के लिए पुलिस सुरक्षा मे जिला अस्पताल भेजवाया गया। इधर आईटीआई छात्र की मौत को लेकर उसके भाई धर्मेन्द्र शर्मा ने तहरीर देकर आरोपित प्रदीप सिंह तथा भीषम सिंह व प्रदीप के साले पर भाई की मौत का जिम्मेदार ठहराया है। पुलिस ने तहरीर के आधार पर प्रदीप समेत तीन के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

Next Story
Share it