Top
Begin typing your search...

प्रयागराज की इन दो लोकसभा सीटों पर अभी तक गठबंधन प्रत्याशियों के नही हुआ एलान,कई सियासी दिग्गजों ने राजधानी में डाल रखा है डेरा

प्रयागराज की इन दो लोकसभा सीटों पर अभी तक गठबंधन प्रत्याशियों के नही हुआ एलान,कई सियासी दिग्गजों ने  राजधानी में डाल रखा है डेरा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शशांक मिश्रा

आज पहले चरण के मतदान में लोगो का उत्साह देखते बन रहा था !एक तरफ जहां पहले चरण का चुनाव खत्म हो गया है वहीं दूसरी तरफ देश को सबसे ज्यादा प्रधानमंत्री देने वाली प्रयागराज की दोनों लोकसभा सीट पर सपा बसपा गठबंधन के प्रत्याशी पर सबकी नजरे टिकी हुई है। सपा के पूर्व मंत्री की माने तो राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पूर्व सांसद और मुलायम सिंह के बेहद करीबी को कुंवर रेवती रमण सिंह को लखनऊ बुलाया और उनसे उम्मीदवारों के नामों की चर्चा की।


अखिलेश यादव इलाहाबाद सीट पर कुंवर रेवती रमण सिंह को उम्मीदवार बनाना चाहते हैं। हालांकि रेवती रमण सिंह ने अभी अपनी सहमति नहीं जताई है और वह वापस लौट आए हैं। लेकिन उनके बेटे और करछना से विधायक उज्जवल रमण सिंह अभी भी लखनऊ में डटे हुए है। लेकिन कुंवर साहब हां कहते है तो उनका उम्मीदवार बनना तय है। वहीं इस सीट पर भाजपा के एमएलसी उम्मीदवार रहे रईश चन्द्र शुक्ला का नाम सबसे आगे चल रहा है। कुंवर साहब के करीबियों की माने तो इलाहाबाद सीट पर रीता बहुगुणा जोशी के सामने कुंवर रेवती रमण के अलावा रईश चन्द्र शुक्ला का नाम सबसे ऊपर है। बता दें रईश चन्द्र शुक्ला तेंदू पत्ते के बड़े कारोबारी है।


हालाकि पार्टी में दावेदारों की लखनऊ से लेकर दिल्ली तक की गणेश परिक्रमा जोर शोर से चल रही है। सपा के खाते में आयी फूलपुर और इलाहाबाद की सीट पर बीते 24 घंटे के घटनाक्रम ने सपा नेताओं की धड़कने बढ़ा दी है। सपा मुखिया दो दिनों में कई उम्मीदवारों को लखनऊ बुलाया है। जिससे स्थानीय नेताओं की हलचल बढ़ गई है। सपा के जिन दावेदारों को दिल्ली लखनऊ बुलाया जा रहा है। उससे यह अनुमान लगाया जा रहा है कि समाजवादी पार्टी का गठबंधन भाजपा के घर से अपना उम्मीदवार तलाश रहा है।


वही फूलपुर लोकसभा की बात करें तो प्रबल दावेदारों में तात्कालिक सांसद नागेन्द्र सिंह पटेल ,पूर्व विधायक विजमा यादव,पूर्व सांसद धर्मराज पटेल , सपा प्रवक्ता निधि यादव,पूर्व विधायक आसिफ सिद्दीकी सहित भाजपा विधायक प्रवीण पटेल के चाचा राजेश पटेल(राजेश खरे) का नाम सुर्खियों में है। सूत्रों की मानें तो राजेश पटेल का नाम अभी तक फूलपुर लोकसभा में सबसे ऊपर वही पूर्व सांसद धर्मराज पटेल भी दुसरे नंबर पर चल रहे है। लेकिन सपा नेताओं के लिए सबसे चौकाने वाला नाम राजेश पटेल का आया है। बता दें कि राजेश पटेल तीन बार बहादुर पुर ब्लाक प्रमुख रहे है। जिले में कई पेट्रोल पंप के मालिक हैं। फिलहाल प्रत्यशियों की घोषणा नही होने से एक तरफ जहां गठबंधन प्रचार में पिछड़ता जा रहा है वहीं दूसरी तरफ कार्यकर्ताओं में उहापोह की स्थिति बनी हुई है !

Next Story
Share it