Top
Begin typing your search...

प्रयागराज में फंसे करीब 10 हजार छात्रों को मुख्यमंत्री योगी ने दिया तोहफा

प्रयागराज में फंसे करीब 10 हजार छात्रों को मुख्यमंत्री योगी ने दिया तोहफा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ. उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने प्रयागराज में केंद्रीय यूनिविर्सिटी और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले करीब 10 हजार छात्र-छात्राओं के लिए विशेष इंतजाम किए हैं. दरअसल सरकार लॉकडाउन में फंसे इन छात्रों को 300 बसों से इनके घर भेजने की तैयारी कर रही है.

प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज ही मीटिंग में कहा कि जब हम कोटा में फंसे बच्चों की चिंता कर सकते हैं तो प्रयागराज में यूपी के ही विभिन्न जिलों के छात्र-छात्राओं को भी उनके घर पहुंचाएंगे.

अवनीश अवस्थी ने बताया कि प्रयागराज में करीब 9-10 हजार छात्र-छात्राएं हैं, इन्हें 300 बसें लगाकर इन्हें गृह जनपद पहुंचाने का आदेश हुआ है. इस संबंध में रोडवेज डिपार्टमेंट के साथ डीएम और एसएसपी को आदेश जारी हो गए हैं. इन्हें चरणबद्ध तरीके से भेजा जाएगा. जो भी बसें प्रयागराज से भेजी जाएंगीं. उनमें आरक्षी भी तैनात किए जाएंगे. ये प्रयागराज में तीन स्थानों से चलेंगी.

पहले चरण में इन जिलों में भेजे जाएंगे छात्र

अवनीश अवस्थी ने बताया कि पहले चरण में ये 300 बसें, सोनभद्र, मिर्जापुर, चंदौली, वाराणसी, जौनपुर, प्रतापगढ़, कौशाम्बी, फतेहपुर और चित्रकूटके छात्र-छात्राओं को लेकर जाएंगी. इसके बाद दूसरे चरण में प्रदेश के दूसरे जिलों में जाएंगीं. यदि वहां किसी अन्य प्रदेश के छात्र होंगे तो उन्हें भी अनुमति मिल जाएगी. सभी छात्रों से निवेदन है कि जल्दीबाजी न करें, दो दिन में ये व्यवस्था हो जाएगी.

सरकारी टीचर बनेंगे कोरोना वॉरियर्स

इसके अलावा उन्होंने बताया कि प्रदेश के डिग्री कॉलेजों से लेकर बेसिक टीचरों तक सभी को कोरोना वॉरियर्स बनाया जाएगा. इसके लिए सीएम योगी ने निर्देश दिया है कि सभी को ट्रेनिंग दी जाए. पैरामेडिकल स्टाफ और अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी स्तर के लोग सभी को ट्रेनिंग देंगे. इसके लिए हर जिले में मास्टर ट्रेनर्स की तैनाती की जाएगी. इस दौरान एक ऐप भी तैयार किया जाएगा, जिससे इन्हें नियमों का पालन करने में आसानी होगी.

अवनीश अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना वायरस आपदा से निपटने के लिए गठित टीम-11 के साथ दैनिक बैठक करते हुए प्रदेश में आपदा की अद्यतन स्थिति की समीक्षा की. उन्होंने स्वास्थ्य सुविधाओं की बढ़ोतरी को आवश्यक बताते हुए जनसुविधाओं का समुचित ध्यान रखने के लिए निर्देशित किया है.

Next Story
Share it