Top
Begin typing your search...

कुंभ मेले में फिर लगी आग, इस बार डंग जी भूरा मठ के चार कैंप जलकर खाक

कुंभ मेले में फिर लगी आग, इस बार डंग जी भूरा मठ के चार कैंप जलकर खाक
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

. इस बार सेक्टर 13 के दंडी बाड़ा नगर के डंग जी भूरा मठ में ये आग लगी है. आग की लपटे इतनी तेज थी कि इसमें चार कैंप चलखकर पूरी तरह राख हो गए.

प्रयागराज में चले रहे कुंभ मेले में आग लगने की घटना रुकने का नाम नहीं ले रही है. इस बार सेक्टर 13 के दंडी बाड़ा नगर के डंग जी भूरा मठ में ये आग लगी है. आग की लपटे इतनी तेज थी कि इसमें चार कैंप चलखकर पूरी तरह राख हो गए. बिजली के शार्ट सर्किट की वजह से आग लगने की आशंका जताई जा रही है. मौके पर दमकल की कई गाड़ियों ने पहुंचकर काबू पाया. गनीमत यह रही कि आग से किसी व्यक्ति को कोई नुकसान नहीं पहुंचा.

इससे छीक एक दिन पहले यानि की 9 दिसंबर को भी कुंभ मेले के सेक्टर 14 में प्रेमदास महाराजा जी के शिविर में आग लग गई थी. फायर ब्रिगेडी की गांड़ियों ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाया था. आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा था.

बता दें कि कुंभ मेले (Kumbh Mela) में आए दिन आग लगने की खबर आ रही है. शुक्रवार (8 फरवरी) को कुंभ मेला के सेक्टर 16 स्थित अखिल भारतीय पंच तेरह भाई त्यागी खालसा के शिविर में गुरुवार को आग लगने से वहां स्थित एक झोपड़ी जलकर राख हो गई.

इससे पहले 5 फरवरी को सीएम योगी आदित्यनाथ के पंडाल में आग लग गई थी. इससे पहले कुंभ मेला परिसर के सेक्टर-13 स्थित पंडाल में आग लग गई थी. घटनास्थल पर 3 दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंची थी और जिसके बाद आग पर काबू पा लिया गया.

14 जनवरी को कुंभ मेला शुरू होने से पहले सेक्टर-13 स्थित तंबुओं में ही आग लगी थी. आग लगने की वजह से बड़े क्षेत्र में लगे तंबू जलकर खाक हो गए थे. अधिकारियों ने बताया था कि 'दिगंबर अखाड़ा' शिविर में एक खाना पकाने वाले गैस सिलेंडर में विस्फोट की वजह से कुंभ परिसर के सेक्टर 13 में आग लगी थी.

प्रयागराज में संगम के किनारे करीब 3200 हेक्टेयर जमीन पर कुंभ मेले का आयोजन किया गया है. इतने बड़े क्षेत्र को नियंत्रित करने के लिए मेरे के पूरे क्षेत्र को 20 सेक्टरों में बांटा गया है. पूरे मेला क्षेत्र में सुरक्षा के लिए बीस हजार से ज्यादा पुलिसकर्मी, छह हजार होमगार्ड, 40 थाने, 58 चौकियां, 40 दमकल स्टेशन, 20 पीएसी की कंपनियां और केंद्रीय बलों की 80 कंपनियों लगाए गए हैं.

Next Story
Share it