Top
Begin typing your search...

इविवि में प्रो अनामिका राय के नेतृत्व में अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार का हुआ आयोजन, स्पेन,स्विटजरलैंड ,फ्रांस अमेरिका की विद्वतमन्डली ने लिया हिस्सा

इविवि में प्रो अनामिका राय के नेतृत्व में अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार का हुआ आयोजन, स्पेन,स्विटजरलैंड ,फ्रांस  अमेरिका की विद्वतमन्डली ने लिया हिस्सा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शशांक मिश्रा

एक तरफ जहां पूरा विश्व को रोना संक्रमण से जूझ रहा है वहीं दूसरी तरफ शिक्षा और शोध का कार्य निरंतर जारी है इस संक्रमणकाल में एक अलग तरह का वेबिनार आयोजित हुआ। वेबिनार का विषय था- "द सर्किल अॉफ एन्शेन्ट इंडियन गॉडसेस" इस वेबिनार का आयोजन "स्ट्रीट आर्ट गैलेरी ,कैम्ब्रिज,यू.एस.ए. तथा इलाहाबाद विश्वविद्यालय के प्राचीन इतिहास संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग के सम्मिलित तत्वाधान में आयोजित हुआ।

वेबिनार के प्रथम दिवस 29 मई को इविवि के प्राचीन इतिहास संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग की विभागाध्यक्ष 'प्रो. अनामिका रॉय' ने "रियलाइजिंग राधा" विषय पर व्याख्यान दिया। 30 मई को 'जैनेट चावला' का व्याख्यान "षष्ठी माँ" विषय पर ,'सीमा कोहली' का "हारिति" पर व्याख्यान हुआ ।31 मई को 'डॉ नीलिमा चिटगोपेकर' का "महिषासुरमर्दिनी" पर तथा 'स्टेला ड्यूपियस' का "किलर्स अॉफ डेमोन्स" विषय पर व्याख्यान होगा। वेबिनार में प्रतिभागी भारत,यू.एस.ए. ,यूरोप से हैं इसलिए वेबिनार का भारतीय समय 7:30 सांयकाल ,यू.एस.ए. में 10:00 बजे प्रात: तथा यूरोप में 3:30 मध्यान्ह रखा गया। व्याख्यानमाला में भारत के अतिरिक्त स्पेन,स्विटजरलैंड ,फ्रांस तथा अमेरिका की विद्वतमन्डली थी।


संवाद का प्रारम्भ "प्रो.अनामिका रॉय" ने किया। उन्होंने "रियलाइजिंग राधा" पर व्याख्यान देते हुए कहा कि राधा को प्राचीन भारतीय परंपरा का सर्वाधिक कौतुहलजनक तथा गलत समझा गया चरित्र है जबकि राधा मात्र गोपी नहीं थीं न ही केवल नायिका मात्र थीं अपितु वे पुराणों में पराशक्ति थीं ,जगदम्बा थीं । राधा की गोपी से देवी तक की यात्रा में दो प्रश्न महत्वपूर्ण हैं? प्रथम राधा कौन हैं? द्वितीय राधा क्या हैं? 'राधा तत्व' 'नारीवादी धर्म' सबका उत्तर इसी में प्राप्त होगा।

प्रो अनामिका राय ने कहा कि इस तरह के अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार के आयोजन द्वारा इलाहाबाद विश्वविद्यालय भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर शोध,अनुसंधान का एक बेहतर मंच तैय्यार करने में वैश्विक भागीदारी निभा रहा है।




Next Story
Share it