Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > प्रयागराज > मण्डलायुक्त ने किया कुंभ मेले के कार्यों का किया निरीक्षण,परियोजना प्रबंधक को किया निलंबित

मण्डलायुक्त ने किया कुंभ मेले के कार्यों का किया निरीक्षण,परियोजना प्रबंधक को किया निलंबित

 Special Coverage News |  2018-11-10 03:58:10.0  |  प्रयागराज

मण्डलायुक्त ने किया कुंभ मेले के कार्यों का किया निरीक्षण,परियोजना प्रबंधक को किया निलंबित

शशांक मिश्रा

मण्डलायुक्त ने हैलीपोर्ट का पुनः निरीक्षण किया तथा सभी अखाड़ों में घूमकर चल रहें निर्माण कार्यो की पड़ताल की। अखाड़ों में ज्यादातर निर्माण कार्यों में संतोषजनक प्रगति पायी गयी तथा कार्य समय से पूरे होते हुए दिखायी दिये। जहां कहीं 31 अक्टूबर की निर्धारित अवधि से थोड़ा सा भी काम शेष दिखायी दिया वहां मण्डलायुक्त ने कार्यदायी संस्था के विरूद्ध कड़ी दण्डात्मक कार्यवाही की। पंचायती निर्मल अखाड़े के काम को निर्धारित तिथि 31 अक्टूबर तक फिनिंशिग लाइन तक न पहुंचाने के लिए तथा लगातार मौके पर उपस्थित रह कर काम न देखने पर सीएनडीएस की 33वीं यूनिट के परियोजना प्रबंधक को निलंबित किये जाने की कार्रवाही के निर्देश दिये। पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन निर्वाण के महंत महेश्वरदास महराज ने मण्डलायुक्त को समय से एवं तेज गति से कार्य करा देने के लिए धन्यवाद एवं आर्शीवाद भी दिया। उदासीन अखाड़ा में बिजली का पोल शिफ्ट करने के दौरान मौके पर पुराने पोल पड़ा देखकर बिजली के विभाग के अधिशाषी अभियन्ता को फटकार लगायी तथा नगर आयुक्त को क्षेत्र में कूड़े की सफाई न होने और स्ट्रीट लाईट का काम शेष रहने पर नाराजगी जताते हुए उन्हें कड़ा पत्र भेजने को कहा।




मण्डलायुक्त अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष एवं बाघम्बरी मठ के महंत नरेन्द्र गिरी महाराज के साथ सभी अखाड़ों का निरीक्षण कर रहें थे।महंत नरेन्द्र गिरी महाराज के साथ मण्डलायुक्त जूना अखाड़ा, पंचदशनाम आवाहन अखाड़ा, उदासीन अखाड़ा, पंचायती निर्मल अखाड़ा, अग्नि अखाड़ा होते हुए दारागंज के निरंजनी अखाड़े का निरीक्षण करने गये। फिर दारागंज एवं अल्लापुर के निर्माण कार्यों को देखते हुए महानिर्वाणी अखाड़े और आनन्द अखाड़ा का भी निरीक्षण किया। बाघम्बरी मठ में चल रहे निर्माण कार्यों का निरीक्षण करते हुए अपरान्ह 02.30 बजे तक मण्डलायुक्त एवं मेलाधिकारी के साथ अधिकारियों ने अखाड़ो का भ्रमण किया।

इस व्यापक निरीक्षण एवं दौरे के बाद मण्डलायुक्त ने कुम्भ मेले की साप्ताहिक बैठक की तथा बैठक में सभी अधिकारियों को यह चेतावनी दी कि जो भी काम पूरे किये जायं, उन्हें एक प्रतिशत भी बाकी न छोड़ा जाय। उनकी नजर में काम के पूरा होने का मतलब उस काम की फिनिशिंग लाईन तक का अन्तिम रूप तक पूरा हो जाने से है। जो काम पूरा किये जायं, वे उस काम की रंगाई पुताई, मलबे की सफाई और उसके सुन्दरीकरण की सीमा तक पूरे किये जाने चाहिए।





बिजली विभाग के मुख्य अभियन्ता को सजग करते हुए मण्डलायुक्त ने निर्देश दिये कि पेशवाई मार्गों पर यत्र-तत्र तारों की क्रासिंग अनिवार्य होने पर उसे अधिकतम ऊंचाई पर ले जाया जाय ताकि पेशवाई मार्गों पर किसी प्रकार की असुविधा न हो। मण्डलायुक्त ने कड़े स्वरों में सभी अधिकारियों को चेतवानी दी कि जिन कामों को 31 अक्टूबर तक पूरा करना तथा उनका लगातार निरीक्षण उनके द्वारा किया जा रहा है, उसमें एक दिन की भी कमी पाये जाने पर अब सीधे निलम्बन की कार्यवाही की जायेगी।

बैठक में थर्ड पार्टी निरीक्षण एजेंसी के नये टीम लीडर रविन्द्र बघेल को सभी अधिकारियों से परिचित कराते हुए मेलाधिकारी ने पुनः यह निर्देश दिये कि जांच एजेंसी से किसी भी विभाग के ठेकेदार अथवा कनिष्ठ अधिकारी द्वारा अनावश्यक सम्पर्क करना या उसकी जांच में बाधा पहुंचना अक्षम्य एवं दण्डनीय होगा तथा उनके कार्यालय तथा प्रयोगशाला में मेला प्रशासन की जानकारी एवं अनुमति के बिना अनावश्यक प्रवेश अनुमन्य नहीं होगा। उन्होंने बैठक में थर्ड पार्टी एजेंसी टीयूवी के पर्यवेक्षक अधिकारियों तथा अभियन्ताओं को निरीक्षण कार्यो में तेजी और निष्पक्षता के निर्देश देते हुए पीएमआईएस साफ्टवेयर पर अपनी रिपोर्ट निर्बाध रूप से अपलोड रखने के लिए कहा।

Tags:    
Share it
Top