Top
Begin typing your search...

पुलवामा आतंकी हमले में प्रयागराज का जाबांज भी हुआ शहीद, 'दोनों बच्चे पूछ रहे हैं कहां हैं मेरे पापा'

महेश सीआरपीएफ 118 बटालियन में तैनात थे। महेश के दो बच्चे साहिल पांच साल व समर छह साल का है।

पुलवामा आतंकी हमले में प्रयागराज का जाबांज भी हुआ शहीद, दोनों बच्चे पूछ रहे हैं कहां हैं मेरे पापा
X
पुलवामा में शहीद महेश के दोनों बच्चे
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शशांक मिश्रा

प्रयागराज : कश्मीर के पुलवामा जिले में गुरुवार हुए फिदाईन हमले में 30 से अधिक जवान शहीद हो गए पूरे देश मे गहरा शोक व्याप्त है इसके साथ ही लोगो मे गहरा आक्रोश देखने को मिल रहा है. लोग केंद्र सरकार से कार्यवाही की मांग कर रहे हैं.

शहीद जवानों में प्रयागराज के महेश कुमार भी शामिल हैं. देर रात तक उनके घरवालों को इसकी भनक तक नहीं हुई. आज सुबह जब घर वालो को इसकी जानकारी हुई तो घर वालो का रो रो कर बुरा हाल है पूरे गाँव मे मातम से माहौल है. महेश सीआरपीएफ 118 बटालियन में तैनात थे. इस समय उनकी पोस्टिंग बिहार में थी. सीआरपीएफ की ओर से शहीदों की जारी सूची में शामिल महेश कुमार मूलरूप से मेजा स्थित तुड़िहार बदल का पुरवा गांव के रहने वाले थे. महेश के दो बच्चे साहिल पांच साल व समर छह साल का है. परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है. शहीद के दोनों बच्चे अपने परिजनों से पूछ रहे हैं कि मेरे पापा कहाँ हैं उन्हें क्या हो गया है.



पिता राजकुमार यादव ऑटो चालक हैं. महेश की पोस्टिंग बिहार में है. पांच दिन पहले ही वह यहां आए थे. मंगलवार को ही वह जम्मू-कश्मीर के लिए यहां से रवाना हुए है. वही

कैबिनेट की सुरक्षा संबंधी समिति की (सीसीएस) शुक्रवार सुबह अहम बैठक हुई. इसमें पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन (एमएफएन) का दर्जा वापस लेने का फैसला लिया गया. पूरा देश कार्यवाही की मांग कर रहा है.

Special Coverage News
Next Story
Share it