Top
Begin typing your search...

पीएम आवास योजना के नाम पर गरीबों के हक़ पर डाका, लूट घसूट का अड्डा बन के रह गया है नगर पंचायत

पीएम आवास योजना के नाम पर गरीबों के हक़ पर डाका, लूट घसूट का अड्डा बन के रह गया है नगर पंचायत
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

l सबसे भ्रष्ट अधिकारियों में शुमार है शेर बहादुर , वर्तमान इओ के कार्यकाल में भ्रष्टाचार का है बोलबाला

नगर पंचायत शंकरगढ़ की लूट घसूट की कार्यप्रणाली से गरीबों के सपने हो रहे चूर l

मुख्यमंत्री व नगर विकास मंत्री के से शिकायत कर जांच करवाने की मांग,

जरूरतमंद लोगों को नहीं मिल पा रहा पीएम आवास योजना का लाभ

प्रयागराज- शंकरगढ़ परियोजना निदेशक केके सिंह ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बताया था कि सामाजिक आर्थिक जातिगत जनगणना के आधार पर प्रधानमंत्री आवास योजना भारत सरकार द्वारा निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार पारदर्शी ढंग से आवंटित किया जाना है lयोजना का उद्देश्य यही है कि सभी बेसहारा बेघर परिवारों और कच्चे तथा जीर्ण सीर मकानों में रह रहे परिवारों को वर्ष 2022 तक बुनियादी सुविधा पक्का आवास उपलब्ध हो सके l,

आवास निर्माण योजना के अंतर्गत ऐसे व्यक्तियों को आवास का लाभ दिया जाना चाहिए जो आवास से वंचित हो, आवास विहीन हो, भिखारी, हो , लेकिन नगर पंचायत में अंधेर नगरी चौपट राजा का खेल खेला जा रहा है यहां प्रधानमंत्री आवास योजना उनको ही दिया जा रहा है जो नगर पंचायत अधिकारियों कर्मचारियों को दस, बीस हजार की भेंट चढ़ा सकें, जिस गरीब के पास देने के लिए रकम नहीं है वह आवास से वंचित रह जा रहे हैंl और तो और नगर पंचायत शंकरगढ़ में उनको भी आवास योजना का लाभ दिया जा रहा है जो पहले से संपन्न और अपात्र हैl लालच के वशीभूत नगर पंचायत, अधिकारी, वा नगर कर्मी सरकारी संपति गुड़िया तालाब में भी आवास मुहैया करा रहे है l यहां परियोजना निदेशक की नहीं इनकी अपनी मनमर्जी से दे रहे कार्य योजना को अंजामl रोड नाली के निर्माण में भी जम के हो रही है धांधली, अगर प्रधानमंत्री आवास की धांधली का सही से जांच होगी तो नगर पंचायत के कर्मचारी अधिकारी जांच के घेरे में आएंगेल


त्रिवेणी पुष्प पत्रिका के पत्रकार से नगर पंचायत के गरीब जनता ने प्रार्थना पत्र देकर अपनी बेबसी की व्यथा सुनाई और नगर पंचायत पर पक्षपात का आरोप लगाया आरोप लगाते हुए बताया कि हम गरीबों को कोई भी सरकारी योजना का लाभ नहीं मिल रहा है वार्ड नंबर 6 की रहने वाली देवकली स्वर्गीय रामखेलावन ने बताया कि पति की मौत के बाद घर की माली हालत खराब है किसी तरह से दो वक्त की रोटी की व्यवस्था मजदूरी से करके बच्चों का पेट पालन कर रही हूंl कच्चा घर गिरने के कगार पर है शौचालय के लिए बाहर जाना पड़ रहा है, लेकिन हमें न तो प्रधानमंत्री आवास योजना और ना ही शौचालय का लाभ मिल रहा है ऐसे ही आसपास दस से ज्यादा गरीब परिवारों ने बिना आवास और शौचालय अपनी बदतर जिंदगी जी रहे हैं सौच के लिये बाहर जाने को मजबूर हैl

यहां के रहने वाले मांगा नाथ पुत्र वाला नाथ ने बताया कि शौचालय का गड्ढा खुद वाया गया, एक किस्त मिली, उसके बाद किसी ने सुध नहीं ली, गड्ढा पानी से भरा है, मच्छर मक्खियों का डेरा है बीमारी फैल रही है शौचालय ना होने से बुढ़ी मां और बच्चे शौच के लिए बाहर जा रहे है, घर भी कच्चा है, गिरने के कगार पर है लेकिन नगर पंचायत की तरफ से कोई सरकारी लाभ नहीं दिया रहा है lवही यादव नगर वार्ड नंबर 3 के रहने वाले शंखूआदिवासी ने बताया कि साहब हम गरीबों का कोई नहीं है कच्चे घर में गुजर-बसर कर रहे हैं सिर्फ और सिर्फ उन्हीं को लाभ दिया जा रहा है जो नगर पंचायत के कर्मचारियों या अधिकारियों को दस, बीस हजार चढ़ा सकें, हमारा सुनने वाला देखने वाला कोई नहीं हैल

नगर पंचायत के लगभग ज्यादातर वार्डों में गरीबों को सरकारी योजना से वंचित रखा जा रहा है हम सब मुख्यमंत्री से को प्रार्थना पत्र के माध्यम से अवगत करा कर जांच करवाने की मांग करेंगे इस संबंध मे जब इ ओ शेर बहादुर से संपर्क किया तो फोन नहीं उठाया, और मिलने पर मीटिंग का हवाला दे कर चलते बने, हर रोज़ लक्जरी गाड़ी से आने के बाद खेलता है, हजारों, लाखों का खेल l

रिपोर्ट - नितिन द्विवेदी, प्रयागराज l

Next Story
Share it