Top
Begin typing your search...

समाज में बढ़ रहा है अकेलापन : प्रो हांगलूं

समाज में बढ़ रहा है अकेलापन : प्रो हांगलूं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शशांक मिश्रा

सिविल लाइन्स स्थित होटल ग्रैंड कॉन्टिनेंटल में आयुषी सिंह की पुस्तक ' चाइल्ड ऑफ़ ट्रू लवर' का विमोचन किया गया। इस पुस्तक विमोचन समारोह की अध्यक्षता करते हुए इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो रतनलाल हंगलूं ने पुस्तक के मार्मिक प्रसंग की चर्चा करते हुए कहा कि 'आज के समय में संयुक्त परिवार बिखर रहे हैं और युवाओं में तनाव घर कर रहा है। आम आदमी के पास आँख होती है, पर लेखक के पास नजर होती है। वह अनकहे को भी कहने का हुनर जानता है।हमारा भौतिक विकास तो हुआ पर अकेलापन बढ़ता गया। हम रात को आकाश में तारे देखना भूल गये। बचपन अब स्कूल के बस्ते का बोझ उठाते उठाते बीत जाता है। '

वहीं आयुषी सिंह ने अपनी पुस्तक में सारा नाम की छोटी बच्ची को केंद्र में रखा है । जिसे 'सिजनोफ्रेनिया' की बीमारी है . इस बीमारी से पीड़ित व्यक्ति काल्पनिक संसार में रहता है। वह आभासी और वास्तविक दुनिया में अंतर नहीं कर पाता। इस विमोचन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में इलाहाबाद राज्य विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो राजेंद्र प्रसाद ने कहा कि लेखिका ने एक उपेक्षित विषय पर पुस्तक लिखी है। समारोह के मुख्य वक्ता कि तौर पर बोलते हुए उत्तर प्रदेश के पूर्व शिक्षा मंत्री नरेंद्र कुमार सिंह गौर ने कहा कि पुस्तक लेखन व्यवसाय नहीं, बल्कि समर्पण से संभव हो पाता है। इस कार्यक्रम में इलाहाबाद विश्वविद्यालय तथा प्रयागराज राज्य विश्वविद्यालय के कई प्रोफेसर भी उपस्थित रहे!

Next Story
Share it