Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > प्रयागराज > प्रयागराज की फूलपुर कोतवाली के बैरक में सिपाही ने फांसी लगाई

प्रयागराज की फूलपुर कोतवाली के बैरक में सिपाही ने फांसी लगाई

 Special Coverage News |  18 Aug 2019 2:59 AM GMT  |  प्रयागराज

प्रयागराज की फूलपुर कोतवाली के बैरक में सिपाही ने फांसी लगाई

प्रयागराज। फूलपुर कोतवाली में तैनात एक सिपाही ने बिजली के तार से फंदा बनाकर बैरक में ही खुदकशी कर ली। आत्‍महत्‍या की वजह साफ नहीं हो सकी है। इस घटना से साथी सिपाही अवाक हैं।

फूलपुर कोतवाली में तैनात था अनिल

फूलपुर कोतवाली में तैनात सिपाही अनिल कुमार त्रिपाठी (35) पुत्र सुरेश चंद्र त्रिपाठी निवासी भदौहा, थाना खखरेरू जनपद फतेहपुर का रहने वाला था। शनिवार की रात में उसने कोतवाली के बैरक में केबल के सहारे हुक पर फांसी लगा ली। घटना का पता तब चला जब एक अन्य सिपाही अपना हेलमेट लेने बैरक में पहुंचा। उसने शोर मचाया तो कोतवाली में खलबली मच गई। आनन-फानन में कोतवाली प्रभारी शमशेर सिंह अनिल को सीएचसी फूलपुर ले गए, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

अनिल के भाई सेना मे और डायल-100 सिपाही हैं

सूचना पाकर पहुंचे एसपी गंगापार नरेंद्र कुमार सिंह व सीओ फूलपुर रत्‍‌नेश्वर सिंह ने उच्चाधिकारियों सहित कोतवाली पहुंच मामले की जांच की। साथ ही अनिल के परिजनों को जानकारी दी। अनिल 2006 बैच का सिपाही था। फूलपुर कोतवाली में उसकी तैनाती जुलाई 2018 में हुई थी। अनिल का छोटा भाई सेना में है, जबकि एक भाई शिवकुटी थाने में डायल 100 में सिपाही है।

बोले एसपी गंगापार, मामला खुदकुशी का लग रहा है पर वजह अभी स्पष्ट नहीं

एसपी गंगापार नागेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि मामला खुदकुशी का लग रहा है। वजह अभी स्पष्ट नहीं है। कुछ देर पहले उसने घरवालों से मकान बनवाने के संबंध में बात की थी। फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। घरवालों से बातचीत के बाद मामला स्पष्ट होगा कि सिपाही ने ऐसा कदम क्यों उठाया।

आखिरी बार छोटे भाई से की थी बात

सिपाही अनिल त्रिपाठी ने आखिरी बार घर कॉल किया था। घटना के बाद उसका मोबाइल चेक किया गया तो यह बात पता चली है। एसपी गंगापार ने बताया कि उसके मोबाइल पर छोटे भाई के नंबर से 32 मिस कॉल पड़ी थी। एसपी गंगापार ने उसके छोटे भाई को फोन किया तो उसने बताया कि गांव में घर बनवाने को लेकर अनिल ने फोन किया था। बातचीत के दौरान फोन काट दिया। इसके बाद वह फोन लगाता रहा, लेकिन अनिल ने फोन नहीं उठाया।

छुट्टी से आया था डयूटी पर

सिपाही अनिल कुमार छुट्टी पर गया था। शुक्रवार शाम को ही वह डयूटी पर लौटा था। रात में नौ बजे से सुबह नौ बजे तक उसने डयूटी की थी। साथी सिपाहियों ने बताया कि वह सुबह से ही गुमसुम था। किसी से कुछ बोल नहीं रहा था।

राजापुर में किराए पर रहता है परिवार

सिपाही अनिल कुमार का परिवार शहर में राजापुर में किराए पर रहता है। पति अनिल कुमार के मौत की जानकारी मिलने पर पत्‍‌नी बबली बिलख पड़ी। उनके एक बेटा राज दस साल का है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top