Top
Begin typing your search...

कार्य संस्कृति बदलने की जरूरत कोई भी फाइल एक हफ्ते से ज्यादा लंबित नहीं रखी जानी चाहिए :कुलपति प्रो हांगलूं

कार्य संस्कृति बदलने की जरूरत कोई भी फाइल  एक हफ्ते से ज्यादा लंबित नहीं रखी जानी चाहिए :कुलपति प्रो हांगलूं
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

शशांक मिश्रा

आज इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो रतन लाल हांगलूं ने विश्वविद्यालय के कई कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया।एकाएक दोपहर 3 बजे कुलपति अपने कार्यालय से निकले और वे सीधे वित्त अधिकारी के कार्यालय में पहुंचे। वहां उन्होंने वित्त अधिकारी डॉ. सुनिलकांत मिश्रा और कार्यरत कर्मचारियों से बातचीत की तथा उनकी कार्यप्रणाली से जुड़े कुछ सुझाव दिए। उसके पश्चात कुलपति सीधे दरभंगा हॉल पहुंचे।


कुलपति के वहां पहुंचते ही अफरा-तफरी का माहौल मच गया। कुलपति ने मौके पर दरभंगा हॉल में करीब दस ऐसे लोगों की पहचान की जो बिना कारण वहाँ बैठे हुए थे। कुलपति ने वहां बेवजह इकट्ठा हुए लोगों को जमकर लताड़ लगाई और मौजूद कर्मचारियों को स्पष्ट निर्देश दिया कि वे अपनी कार्य संस्कृति में सुधार करें। कुलपति ने दरभंगा हॉल में फाइलों के कई ढ़ेर भी देखें और साफ शब्दों में निर्देश दिया किसी भी स्थिति में कोई भी फाइल एक हफ्ते से ज्यादा लंबित नहीं रखी जानी चाहिए।


ज्ञात हो कि इससे पहले 28 अक्टूबर 2018 को भी कुलपति ने दरभंगा हॉल का औचक निरीक्षण किया था। दरभंगा हॉल विश्वविद्यालय प्रशासन का केंद्रीय कार्यालय है, जहां सारे विभागों से जुड़े हुए कार्यालयी काम होते हैं। कुलपति ने इसके बाद रजिस्ट्रार कार्यालय का भी दौरा किया और वहां की गतिविधियों के बारे में भी जानकारी ली।

Next Story
Share it